Rajasthan Budget 2019-20 : सीएम गहलोत द्वारा पेश किए गए बजट पर क्या बोले भाजपा विधायक, पढ़ें पूरी खबर

By: Suresh Hemnani

Updated On:
11 Jul 2019, 11:44:42 AM IST

  • -राजस्थान की विधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत [Chief Minister Ashok Gehlot] द्वारा पेश किया गया बजट 2019-20

पाली। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा बुधवार को राजस्थान की विधानसभा [Rajasthan Legislative Assembly] में पेश किए गए बजट 2019-20 [Rajasthan Budget 2019-20] को लेकर पाली जिले के भाजपा व निर्दलिय विधायकों ने अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं दी।

बजट में कुछ नहीं
मारवाड़-गोडवाड़ के लिए बजट में कुछ भी नहीं है। सरकार ने राजनीतिक कारणों से क्षेत्र की उपेक्षा की है। बाली विधानसभा क्षेत्र को भी उपेक्षित रखा गया। सरकार का यही रवैया रहा तो क्षेत्र में पानी की परेशानी विकराल हो जाएगी। बजट चर्चा में सरकार को आग्रह करेंगे कि पानी व प्रदूषण के मुद्दे पर कोई कदम उठाए। -पुष्पेन्द्रसिंह राणावत, विधायक-बाली

सिर्फ जादू दिखाया
बजट में पाली जिले को कुछ नहीं मिला। गहलोत जादूगर है उन्होंने सिर्फ जादू दिखाया है। हकीकत में कुछ भी नहीं है। पाली के लिए बजट घोर निराशाजनक है। पाली के लिए सबसे महत्वपूर्ण प्रदूषण जैसे मुद्दों पर भी सरकार ने ध्यान नहीं दिया। -ज्ञानचंद पारख, विधायक, पाली

निर्दलीय विधायक बोले, सराहनीय
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अच्छा बजट पेश किया है। सरकार ने बजट घोषणा में दिल्ली-मुम्बई कॉरीडोर को गति देने का निर्णय किया है। इससे पाली और मारवाड़ जंक्शन में औद्योगिक विकास होगा। जवाई पुनर्भरण का मुद्दा जरूर रह गया, लेकिन बजट चर्चा के दौरान सरकार से मांग करेंगे। -खुशवीरसिंह, विधायक, मारवाड़ जंक्शन

जवाई की बड़ी उम्मीद थी
बजट बेहद निराशाजकर रहा। जवाई पुनर्भरण के लिए बड़ी उम्मीद थी, लेकिन निराशा ही हाथ लगी। जवाई के लिए योजना बनाने की बजाय शिवगंज को और जोड़ दिया। जबकि जवाई बांध बारिश पर निर्भर है और पानी की कमी के कारण खाली है। सरकारों ने जवाई से पानी लेने की योजनाएं ही बनाई, पुनर्भरण के लिए कोई काम नहीं हुआ। -जोराराम कुमावत, विधायक, सुमेरपुर

राजनीतिक दृष्टि से बनाया बजट
जैतारण और पाली के लिए बजट में कुछ नहीं है। जैतारण में सरकारी कॉलेज में विज्ञान संकाय नहीं है। आनंदपुर कालू में पीएचसी को क्रमोन्नत करने की भी मांग की थी। ये भी पूरी नहीं हुई। यह बजट पूरी तरह से राजनीतिक दृष्टिकोण से बनाया गया है, जिसमें कांग्रेस व निर्दलीय विधायकों के क्षेत्र को फायदा पहुंचेगा। -अविनाश गहलोत, विधायक, जैतारण

बजट निराशाजनक
बजट निराशाजनक है। अपेक्षा के अनुरूप कुछ भी नहीं मिला। मेहंदी नगरी सोजत के लिए ट्रोमा जैसी कई जरूरी घोषणाओं की उम्मीद थी, लेकिन सरकार ने पूरे जिले को नजरअंदाज किया। यह पाली की जनता के साथ खिलावाड़ है। पानी जैसी महत्वपूर्ण जरूरत के लिए सरकार को बजट में प्राथमिकता देनी चाहिए थी। -शोभा चौहान, विधायक, सोजत

Updated On:
11 Jul 2019, 11:44:42 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।