जिला प्रमुख-सीइओ में खींचतान से ग्राम पंचायतों का 10 करोड़ का बजट अटका

By: Satyadev Upadhaya

Updated On:
11 Sep 2019, 05:05:05 AM IST

  • पाली . जिला प्रमुख प्रेमाराम सीरवी और मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीणा की ‘खींचतान’ का खामियाजा ग्राम पंचायतें भुगत रही है।

पाली . जिला प्रमुख प्रेमाराम सीरवी और मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीणा की ‘खींचतान’ का खामियाजा ग्राम पंचायतें भुगत रही है। पंचायतों में विकास के काम अटक गए हैं। राज्य वित्त आयोग का 10 करोड़ का बजट खर्च नहीं हो पा रहा है। जबकि पंचायत समितियों और पंचायतों की ओर से लगातार पैसों की मांग की जा रही है।
पांचवें राज्य वित्त आयोग की तरफ से प्रदेश के सभी जिलों को जनसंख्या के अनुपात में ग्रामीण विकास के लिए बजट मिलता है। साल में एक या दो बार आयोग से किश्त जारी होती है। पाली जिले की करीब 321 पंचायतों के लिए करीब दो साल पूर्व 10 करोड़ रुपए मिले हैं। यह पैसा अभी तक खर्च नहीं हो पाया है। वित्त आयोग से मिलने वाली किश्त में से 85 फीसदी बजट पंचायतों पर खर्च किया जाता है। वित्त आयोग के मद से करीब ढाई करोड़ की वित्तीय स्वीकृतियां जारी हुई है, लेकिन फण्ड जारी नहीं हुआ। मुख्य कार्यकारी अधिकारी 10 लाख रुपए तक की स्वीकृतियां जारी कर सकते हैं, लेकिन 20 हजार से ज्यादा की राशि जिला प्रमुख के हस्ताक्षर से ही आवंटित की जा सकती है।

सरपंचों को सता रही चिंता
सरपंचों का कार्यकाल दिसम्बर महीने में पूरा हो रहा है। पंचायतों में विकास के काम कराने के लिए सरपंच वित्त आयोग के बजट का इंतजार कर रहे हैं। कई पंचायतों में अभी काम भी स्वीकृत नहीं हुए हैं। कहीं पंचायतों में वित्तीय स्वीकृति जारी होने के बाद काम भी शुरू हो चुके, लेकिन पैसा नहीं मिला है। जबकि, जिला परिषद ऐसी पंचायतों के ग्रामसेवकों को नोटिस जारी कर रही है जिन्होंने स्वीकृत काम शुरू नहीं कराए।

ग्रामसेवकों ने भी उठाया मुद्दा
जिला परिषद सभागार में पिछले दिनों हुई प्रकोष्ठ की बैठक में ग्रामसेवकों ने भी वित्त आयोग का पैसा जारी करने की मांग उठाई थी। ग्राम सेवक संघ के अध्यक्ष विजयप्रकाश कहना है कि कई पंचायतों में स्वीकृत काम पूरे हो गए, लेकिन पैसा नहीं मिला है। पैसों के लिए ठेकेदार उन्हें परेशान कर रहे हैं। दूसरी तरफ ग्रामसेवकों को नोटिस भी जारी किए जा रहे हैं।

काम नहीं रुकने चाहिए
पाली जिला परिषद का मामला जानकारी में आया है। यदि किसी को कोई बात रखनी हो तो वह कभी भी मिल सकता है। किसी व्यक्ति विशेष के कारण सरकार की योजनाओं के काम नहीं रुकने चाहिए। सरकार के काम तो नियमों से ही होंगे।
राजेश्वरसिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव, ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग

Updated On:
11 Sep 2019, 05:05:05 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।