टोक्‍यो ओलंपिक 2020 पर मंडराया खतरा, जापान ओलम्पिक समिति के अध्यक्ष पर रिश्वत का आरोप

By: Mazkoor Alam

Updated On: Jan, 12 2019 08:14 AM IST

  • जांचकर्ताओं के मुताबिक डिआक के बेटे को धन सिंगापुर स्थित ब्लैक टाइडिंग्स नाम की कंपनी के जरिए मिला था।

पेरिस : फ्रांस के अधिकारियों ने जापान ओलम्पिक समिति के अध्यक्ष सुनेकाजु ताकेडा के खिलाफ रिश्वत देने के मामले में जांच शुरू की है। ताकेडा पर आरोप है कि उन्‍होंने 2020 ओलम्पिक खेलों की मेजबानी जापान को दिलाने के लिए अंतरराष्ट्रीय अफ्रीकन ओलम्पिक समिति के सदस्यों को रिश्वत दी थी। शुक्रवार को इसकी जानकारी फ्रांस के न्यायिक सूत्रों ने दी।

ताकेडा ने किया इनकार
रिपोर्ट के अनुसार, ताकेडा ने हालांकि अपने ऊपर लगे तमाम आरोपों से इनकार किया है। उनका कहना है कि उनके खिलाफ कोई जांच नहीं चल रही है। साथ में यह भी कहा कि 2018 में एक फ्रांसीसी न्यायाधीश ने उन्हें समन भेजकर पूछताछ की थी। एक फ्रांसीसी मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार इस मामले में ताकेडा की भूमिका की जांच कर रहे फ्रांस के अधिकारियों को यह पता चला है कि जापानियों ने सेनेगल के पापा मासाटा डिआक के मालिकाना हक वाली कंपनी को 1.8 मिलियन यूरो दिए थे। मासाटा अंतरराष्‍ट्रीय एथलेटिक्स महासंघ के तत्कालीन अध्यक्ष लेमिने डिआक के बेटे हैं।

अफ्रीकन लॉबी को पक्ष में करने के लिए दी घूस
इसी वजह से उन पर यह आरोप लग रहा है कि धन देने का ताकेडा मकसद डिआक को अफ्रीकन लॉबी को जापान के पक्ष में वोट देने के लिए राजी करना था। जांचकर्ताओं के मुताबिक डिआक के बेटे को धन सिंगापुर स्थित ब्लैक टाइडिंग्स नाम की कंपनी के जरिए मिला था।

2017 में भी ताकेडा से हुई थी पूछताछ
बता दें कि फरवरी 2017 में भी इस सिलसिले में ताकेडा से पूछताछ की गई थी। उन्होंने धन देने की बात को माना जरूर था, लेकिन इसकी कोई वजह नहीं बताई थी। फिर 2018 में 10 दिसंबर को भी उनसे पूछताछ की गई। अब ताकेडा और डिआक के खिलाफ मौजूदा जांच शुरू की गई है। अगर यह साबित हो जाता है तो टोक्‍यो ओलंपिक 2020 पर भी संकट के बादल गहरा सकते हैं।

Published On:
Jan, 11 2019 10:35 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।