राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस : भारत की महिला और पुरुष दोनों टीमों ने किया खिताब पर कब्जा

By: Mazkoor Alam

Updated On: Jul, 19 2019 10:41 PM IST

    • दोनों वर्गों में भारतीय टीम के सामने इंग्लैंड की टीम थी
    • महिला वर्ग में सेमीफाइनल में भारतीय टीम ने सिंगापुर का तोड़ा वर्चस्व

कटक : महिला और पुरुष दोनों वर्गों में शानदार प्रदर्शन करते हुए भारतीय टीम ने 21वीं राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस ( Table Tennis ) चैम्पियनशिप में इन दोनों वर्गों का खिताब जीत लिया। पुरुष टीम ने ओडिशा के कटक में जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में शुक्रवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड की टीम को 3-2 से मात देकर अपना खिताब बरकरार रखा। वहीं महिला टीम के सामने भी इंग्लैंड की ही चुनौती थी। इससे पार पाते हुए भारतीय महिला टीम ने एकतरफा मुकाबले में इंग्लैंड को 3-0 से हराकर पहली बार खिताब अपने नाम किया।

टेबल टेनिस: ओमान ओपन के फाइनल में हारी अर्चना, रजत पदक से ही करना पड़ा संतोष

भारतीय पुरुष टीम ने लगातार दूसरी बार जीता खिताब

भारतीय पुरुष टीम ने लगातार दूसरी बार इस खिताब पर कब्जा जमाया है। भारतीय टीम ने इससे पहले सूरत में 2015 में इस खिताब पर अपना नाम लिखाया था। बता दें कि भारत ने पहली बार यह खिताब 2004 में मलेशिया की राजधानी कुआलालम्पुर में जीता था।
पुरुष वर्ग में अपना 26वां जन्मदिन मना रहे हरमीत देसाई ने न केवल भारत को खिताब गंवाने से बचा लिया, बल्कि अपना मुकाबला जीतकर मैच में भारत की शानदार वापसी कराकर उसे चैंपियन भी बना दिया। भारतीय टीम पहले दो मुकाबले हारकर 0-2 से पीछे थी। भारत के स्टार खिलाड़ी अचंता शरत कमल और जी साथियान अपना मैच हार चुके थे। इसके बाद हरमीत ने मैच में वापसी कराई। इसके बाद उलट मुकाबले में साथियान और अचंता ने फिर अपने-अपने मुकाबले जीतकर इंग्लैंड को 3-2 से हराया।

कॉमनवेल्थ टेबल टेनिस चैंपियनशिप में भारत की दमदार शुरुआत, पुरुष और महिला वर्ग ने बनाई सुपर 8 में जगह

महिला वर्ग में एकतरफा रहा मामला

महिला वर्ग में अर्चना कामत ने शानदार शुरुआत की। उन्होंने हो टिन टिन को पराजित किया। इसके बाद मनिका बत्रा ने डेनिस पायेट को और मधुरिका पाटकर ने एमिली बाल्टन को मात देकर भारतीय टीम को इंग्लैंड पर 3-0 की खिताब जीत दिला दी। इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल मुकाबले में लगातार आठ बार की विजेता सिंगापुर को भारतीय टीम ने एकतरफा मुकाबले में 3-0 से शिकस्त दी थी। सिंगापुर की महिला टीम 1997 से यह ट्रॉफी लगातार अपने नाम करती आ रही थी।

Published On:
Jul, 19 2019 10:39 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।