पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप लगा भूख हड़ताल पर बैठेगा जेल में बंद कैदी

Rahul Chauhan

Publish: Sep, 12 2018 08:28:56 PM (IST)

गाजियाबाद की डासना जेल में डबल मर्डर केस में बंद खेकड़ा निवासी कर्मवीर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है।

गाजियाबाद। प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद लोगों को उम्मीद थी कि अब पुलिस व प्रशासन में उनकी सुनवाई होगी। हालांकि स्थिती कुछ और ही नजर आ रही है। दरअसल, इन दिनों एक कैदी ऐसा भी है जो लगातार सरकार व प्रशासन ने गुहार लगा रहा है लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हो रही। जिसके बाद अब वह गुरुवार 13 सितंबर से जेल में ही भूख हड़ताल पर बैठने जा रहा है। वहीं उसके परिजनों का आरोप है कि पुलिस की साठगाठ के कारण उनकी सुनवाई नहीं हो रही।

यह भी पढ़ें-मुहर्रम से पहले यूपी के इस जिले में हुआ भयंकर खूनी संघर्ष, दर्जनों लोग घायल, देखें वीडियो

दरअसल, इन दिनों गाजियाबाद की डासना जेल में डबल मर्डर केस में बंद खेकड़ा निवासी कर्मवीर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। जिसमें गुहार लगाते हुए उसने कहा है गत वर्ष 19 फरवरी की रात खेकड़ा निवासी पुष्पेंद्र और बाशिद नामक दो व्यक्तियों की बाइक सवार 2 अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। वहीं मृतक के भाई ने रंजिश के चलते मुझपर और मेरे दो भाईयों समेत 7 लोगों को नामजद कराते हुए मामला दर्ज करा दिया। जबकि उस समय मेरा एक भाई जयवीर जो कि अलीगढ़ में खाद्य एंव सफाई निरीक्षण पद पर तैनात था और वह अपनी ड्यूटी पर था। हमारा इस मामले से कोई लेना देना नहीं है।

यह भी पढ़ें-यूूपी पुलिस का बड़ा कारनामा, दर्ज किए 15 साल पहले मर चुके व्यक्ति के बयान

letter to pm modi

यह भी पढ़ें-एडीएम-कर्नल विवाद: ADM हरीश चंद्रा परिवार सहित पहुंचा घर, केस दर्ज होने के बाद से था फरार

हम कई बार इस मामले में पुलिस अधिकारियों से सही जांच करने की भी मांग कर चुके हैं। इसके साथ ही हमने यहां तक कहा है कि यदि विश्वास कि बात है तो हमारे नार्को टेस्ट भी करा लिए जाएं ताकि यह पता चल सके कि हम बेकसूर हैं। पत्र में कर्मवीर ने गुहार लगाई है कि इस मामले की जांच सीबीआई या किसी अन्य जांच समिति से कराई जाए।

हम लोगों के साथ जो अन्याय हो रहा है उसके चलते अब मैं 13 सितंबर से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठने जा रहा हूं। डासना जेल में कर्मवीर से मिलाई कर लौटे लेकेंद्र सिंह का कहना है कि पुलिस की साठगाठ के चलते हमारे भाई जेल में बंद हैं। उन्होंने हमसे कहा है कि जब तक हमें इंसाफ नहीं मिलेगा और इस मामले की फिर से जांच नहीं होगी तब तक वह जेल में भी भूख हड़ताल पर बैठे रहेंगे।

More Videos

Web Title "Prisoner will sit on hunger strikes accusing the police administration"