भारत में बन रहा चीन से बड़ा एयरपोर्ट, जाने कहां

By: Iftekhar

|

Updated: 23 Feb 2018, 03:46 PM IST

Noida, Uttar Pradesh, India

नोएडा। चीन हमेशा अपनी टेक्नॉलाजी और इन्फास्ट्क्चर को लेकर आंख दिखाने की कोशिश करता है। लेकिन बहुत जल्द ही भारत में बनने वाला एयरपोर्ट चीन को भी पिछाड़ कर रख देगा। यहां बनने वाला एयरपोर्ट विश्व में चौथे नम्बर का एयरपोर्ट होगा जिसमें तमाम आधुनिक सुविधाएं लेैंस होगी। साल 2024 तक ये एयरपोर्ट भारत का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। इससे पहले अमेरिका और यूएई के पास में वर्ल्ड क्लास एयरपोरर्ट है। नागरिक विमानन मंत्रालय ने पिछले साल ही एयरपोर्ट की स्थापना के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। जमीनी स्तर पर 2024 तक यात्रियों को इसकी सुविधा मिलने लगेगी। एयरपोर्ट के बाहर भी लोगों को वर्ल्ड क्लास सुविधा देने के लिए मेट्रो और पॉड की कनेक्टिविटी मिलेगी।

आईजीआई से क्षेत्रफल में होगा दोगुना एयरपोर्ट
यूपी के जेवर में बनने वाला एयरपोर्ट भारत का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। क्योकि पांच हजार हेक्टेयर में इसका निर्माण होगा। देश के बाकि एयरपोर्ट की बात की जाए तो दिल्ली का आईजीआई एयरपोर्ट का क्षेत्रफल 2066 हेक्टेयर है। वहीं नवी मुंबई में बनने जा रहे एयरपोर्ट का क्षेत्रफल भी 2320 हेक्टेयर है। इस हिसाब से जेवर का एय़रपोर्ट देश के बाकि शहरों समेत विश्व के एयरपोर्ट को भी एरिया के हिसाब से पीछे छोड़ देगा।

दो चरणों में तैयार किया जाएगा एयरपोर्ट
जेवर एयरपोर्ट का निर्माण दो चरण में किया जाएगा। पहले चरण में तीन हजार हेक्टेयर पर दो रनवे तैयार किए जाएगे। एक रनवे से लैडिंग और दूसरे से एयर बस उड़ान भरेगी। यात्रियों का दबाव बढ़ने के बाद में यहां पर दूसरे चरण का काम शुरू किया जाएगा। 2023-24 में एयरपोर्ट के शुरू होने के बाद में संभावित तौर पर आठ करोड़ के करीब यात्रियों हवाई यात्रा करेगें।

उत्‍तर प्रदेश के इन शहरों से उड़ेंगे विमान

आईजीआई पर खत्म हो जाएगी क्षमता
इंदिरा गांधी हवाई अड्डे पर मौजूदा समय में छह से सात करोड़ लोग ट्रेवल करते है। आने वाले 2022-23 तक यात्री संख्या बढ़कर दस करोड़ पार करने की संभावना है । इसके बाद यहां यात्री संख्या बढ़ाने की गुंजाइश समाप्त हो जाएगी। इसकी वजह से सारा दबाव जेवर एयरपोर्ट के पास में आ जाएगा।

उत्तर प्रदेश में इस वजह से बढ़े सड़क हादसे, रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा

कनेक्टिविटी भी रहेगी वर्ल्ड क्लास
जेवर एयरपोर्ट के शुरू होने के बाद में लोगों को कनेक्टिविटी के लिए अधिक परेशान नहीं होना पड़ेगा। वर्ल्ड के बाकि देशों की तरह यहां पर भी ग्रेटर नोएडा से जेवर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट को मेट्रो और पॉड से जोड़ा जाएगा। इसके अलावा पलवल और यमुना एक्सप्रेस वे की मदद से कुछ मिनटों में ही लोग जेवर एयरपोर्ट तक पहुंच सकेगें।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।