हिंसा के बाद दलितों ने छोड़ा गांव, युवक की हत्या से गांव में दहशत का माहौल

By: Iftekhar Ahmed

Updated On:
10 Apr 2018, 06:18:41 PM IST

 
  • गुर्जर समाज के 2 आरोपी युवकों को भेजा गया जेल

मेरठ. एससी-एसटी एक्ट में हुए परिवर्तन के विरोध में हुए भारत बंद के दौरान मेरठ में बड़ी हिंसा देखने को मिली थी.. इसी बीच अगले दिन तीन अप्रैल को एक बीएसपी से जुड़े दलित युवक गोपी की हत्या हुई थी, जिसके आरोप में गुर्जर बिरादरी से जुड़े दो आरोपियों को जेल भेजा जा चुका है.. लेकिन इस वारदात के बाद अब भी गाँव में सन्नाटा पसरा हुआ है.. माममला मेरठ के थाना कंकरखेड़ा क्षेत्र के शोभापुर गाँव का है, जहां एक दलित युवक गोपी की गाँव के ही गुर्जर बिरादरी के युवकों ने ताबड़तोड़ गोली बरसाकर हत्या कर दी.. इस वारदात के बाद दो आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेज दिया लेकिन अब भी पुरे गाँव में दहशत का माहौल है.. संघर्ष के डर से कई लोग गाँव के बाहर चले गए हैं और जो किसी काम से बाहर गए हुए थे वो वापिस नहीं आ रहे हैं.. मृतक के परिजनों का कहना है कि पुलिस प्रशासन के कहने पर उन्होंने संगीनों के साये में पुलिस बल के साथ गोपी का अंतिम संस्कार किया था.. साथ ही 14 अप्रैल को वो सादगी के साथ बाबा साहब की जयंती बनाएंगे…

Updated On:
10 Apr 2018, 06:18:41 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।