सरकार की नीतियों को किसानों तक पहुंचाएगा बीजेपी किसान मोर्चा

नई दिल्ली/नोएडा। किसानों से कर्जमाफी का वायदा कर यूपी में प्रचण्ड बहुमत पाने वाली भाजपा ने किसानों को जागरूक बनाने का कार्यक्रम बनाया है. इसके तहत पार्टी का किसान मोर्चा छह अक्टूबर से लेकर आंबेडकर जयंती चौदह अक्तूबर तक देश के सभी जिलों और ब्लाकों में जागरूकता कार्यक्रम चलाएगा. इसमें किसानों को केंद्र सरकार द्वारा चलाई गयी नीतियों की जानकारी दी जायेगी.

भाजपा किसान मोर्चा के अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह मस्त ने कहा कि हमारी सरकार देश के किसानों के लिए अनेक कार्यक्रम चला रही है और लोगों को उसका फायदा भी हो रहा है. लेकिन इसके बावजूद हमारे देश की विशालता और किसानों की बड़ी संख्या के कारण लोगों को इसके बारे में पूरी जानकारी नहीं हो पाती. इससे एक तो किसानों को अपेक्षित लाभ नहीं मिल पाता वहीं इससे देश की उत्पादकता पर भी असर पड़ता है.

भदोही से सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने कहा कि देश के किसानों की खराब हालात सुधरने के लिए सरकार ने अनेक कार्यक्रम चलाये हैं लेकिन उसे सही रूप से किसानों के पास पहुंचना आवश्यक है. हमारे देश के किसान अपेक्षाकृत कम पढ़े-लिखे हैं, वे नई तकनीक अपनाने की बजाय परम्परागत कृषि करते हैं जिसकी वजह से उनका अपेक्षित विकास नहीं हो पाता. लेकिन देश के किसानों की आय बढ़ाने के लिए किसानों की खेती की तकनीकी में सुधार करना आवश्यक है. इसके लिए किसान मोर्चा पूरे देश के किसानों को जागरूक करने का काम करेगा.

भाजपा ने किसानों से बहुत सारे वायदे किए हैं. उनकी आय को बढ़ाकर दोगुना करने, उनकी फसलों को डेढ़ गुनी कीमत उपलब्ध करवाना मोदी सरकार ने अपनी प्राथमिकता बताया है. अपनी इस योजना को पूरा करने के लिए मोदी सरकार ने किसानों के लिए अनेक योजनाएं चलाई हैं जिनमें प्रधानमंत्री सिंचाई योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, सॉयल हेल्थ कार्ड योजना, नीम कोटेड यूरिया, खाद सब्सिडी और अटल पेंशन योजना प्रमुख है. बीजेपी किसान मोर्चा किसानों को इस बात की जानकारी देगा कि वे इसका फायदा कैसे और किसके माध्यम से उठा सकते हैं.
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।