वीजा में देरी की वजह से भारत नहीं आ पाई US की पहली ट्रांसजेंडर जज

World

विक्टोरिया कोलाकोवस्की न्यूयॉर्क सिटी में पैदा हुई। 2010 में वो अमरीकी ट्रायल कोर्ट की पहली ट्रांसजेंडर जज बनीं। वीजा में देरी के चलते भारत यात्रा रद्द होने को लेकर इनदिनों चर्चाओं में हैं। उन्हें भारत में अमरीकी दूतावास के एलजीबीटी कानून और नीति पर होने वाले एक कार्यक्रम में वक्ता के तौर पर शामिल होना था। 

विक्टोरिया कोलाकोवस्की न्यूयॉर्क सिटी में पैदा हुई। 2010 में वो अमरीकी ट्रायल कोर्ट की पहली ट्रांसजेंडर जज बनीं। वीजा में देरी के चलते भारत यात्रा रद्द होने को लेकर इनदिनों चर्चाओं में हैं। उन्हें भारत में अमरीकी दूतावास के एलजीबीटी कानून और नीति पर होने वाले एक कार्यक्रम में वक्ता के तौर पर शामिल होना था। अपने फेसबुक पोस्ट में 55 सल की कोलाकोवस्की ने लिखा है, '9 मार्च को भारत के लिए उड़ान भरनी थी लेकिन वीजा तैयार नहीं था। जबकि वीजा के लिए 20 फरवरी को आवेदन किया गया था।


16 दिन के दौर पर आना था भारत
कोलाकोवस्की का 10 मार्च से लेकर 26 मार्च तक भारत दौरे पर आना था। लेकिन जब वो वीजा लेने के लिए सेंन फ्रांसिस्को स्थित भारतीय वीजा कार्यालय गई तो उन्हें अगले दिन आने के लिए कहा गया। उन्होंने वीजा अधिकारी से दिल्ली प्राधिकरण से बातचीत कर वीजा देने के लिए कहा लेकिन कहा गया कि भारत में होली के चलते सबकुछ बंद है।  

2011 में मिला पुरस्कार
विक्टोरिया कोलाकोवस्की ने 1987 में तुलेन यूनिवर्सिटी से बायोम़ेडिकल में इंजीनियरिंग की। 1990 उन्होंने इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में स्नातकोत्तर  किया। वो परिवार में पहली ऐसी महिला हैं जिन्होंने कॉलेज की दहलीज पर कदम रखा। जज के लिए 51 फीसदी मतो से उनका चुनाव हुआ था। जबकि उनके विरोधी को सिर्फ 48 फीसदी मत मिले थे। 2011 में उन्हें समानता और न्याय के पुरस्कार से नवाजा गया।

Web Title "Visa Delayed: Transgender US judge's visit cancelled "

Rajasthan Patrika Live TV