दो को आजीवन कारावास

narendra shrivastava

Publish: Apr, 20 2017 11:43:00 (IST)

katni

जमीन विवाद पर की थी हत्या, 30-30 हजार रुपये का भरना होगा जुर्माना


कटनी. बड़वारा थाना के सकरीगढ़ में वर्ष 2014 में जमीन विवाद पर एक युवक की हत्या करने व साक्ष्य छिपाने के लिए उसका शव महानदी में फेंकने के मामले में दो आरोपियों को सत्र न्यायाधीश राधा सोनकर की अदालत ने आजीवन कारावास व अर्थदंड से दंडित किया है। 
मामले के संबंध में अपर लोक अभियोजक रजनीश सोनी ने बताया कि 19 जुलाई 2014 को संकरीगढ़ निवासी बाल्मीकी पिता विश्राम कोरी (24) सल्हना स्टेशन से सकरीगढ़ आते समय गायब हो गया था।  जिसपर पुलिस ने गुम इंसान दर्ज कर मामला की जांच शुरू की। शाम को महानदी पुल के पास एक युवक का शव मिला और उसकी शिनाख्त बालमीकी के रूप में की गई। जांच में पुलिस ने संदेह के आधार पर किशोरीलाल कोरी व संजय कोरी को पकड़ा और उनसे पूछताछ की। दोनों का जमीन विवाद बालमीकी के परिवार से था। आरोपियों ने डंडा मारकर उसकी हत्या की थी। पुलिस ने मामले को न्यायालय में पेश किया। जहां पर सत्र न्यायाधीश ने विवेचना, साक्ष्य और बयान के आधार पर किशोरी व संजय को दोषी पाया। न्यायाधीश ने धारा 302 का दोषी मानते हुए आरोपियों को आजीवन कारावास व 30-30 हजार रुपये का जुर्माना और धारा 201 का दोष सिद्ध होने पर 2-2 साल की सश्रम कारावास व 5-5 हजार रुपये के अर्थदंड से दंडित किया। अर्थदंड न जमा करने पर हत्या के मामले में 3-3 माह व साक्ष्य छिपाने के मामले में एक-एक माह की अतिरिक्त सजा दिए जाने की सजा सुनाई गई।

Rajasthan Patrika Live TV