राडार पर था हवाला कांड का आरोपी सरावगी, पुलिस ने 2 किलोमीटर पीछा करके दबोचा

Jabalpur, Madhya Pradesh, India

पत्नी बच्चों को स्टेशन छोडऩे के दौरान पुलिस ने किया गिरफ्तारी

कटनी। 500 करोड़ से ज्यादा के हवाला कारोबार मामले में फरार आरोपी सतीश सरावगी को गुरुवार की दोपहर जबलपुर रेलवे स्टेशन से कटनी पुलिस ने गिरफ्तार किया। सतीश सरावगी 5 जनवरी से फरार था। बतौर पुलिस सतीश सरावगी पत्नी व बच्चों को रेलवे स्टेशन छोडऩे आया था तभी उसे गिरफ्तार किया गया। कटनी में भिक्षुक के बेटे से लेकर पैथोलॉजी दुकान के कर्मचारी व दूसरे गरीब व्यक्तियों के नाम फर्जी फर्में और एक्सिस बैंक सहित अन्य बैंकों में बोगस खाते खोलकर करोड़ों के हवाला कारोबार को अंजाम दिया गया। इस मामले में सतीश सरावगी उसके भाई मनीष सरावगी सहित 12 अन्य आरोपियों की तलाश पुलिस को है। हवाला मामले में अब तक चार आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं, सतीश सरावगी की पांचवी गिरफ्तारी है।


पुलिस को थी सही मौके की तलाश
एसपी शशिकांत शुक्ला ने बताया कि सतीश सरावगी पुलिस राडार में 7 दिन से था। उसकी गिरफ्तारी के लिए सही मौके की तलाश थी। जैसे ही पिन प्वाइंट मिला उसे गिरफ्तार कर लिया गया। एसपी ने बताया इस मामले में मनीष सरावगी सहित 12 आरोपी फरार हैं, जिनकी गिरफ्तारी की जानी है। 


2 किलोमीटर पीछा कर स्टेशन में पकड़ा
जबलपुर में सतीश सरावगी का पीछा रसल चौक से करते हुए कटनी पुलिस रेलवे स्टेशन पहुंची। जबलपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म क्रमांक 6 के बाहर सतीश सरावगी पत्नी व बच्चे को छोडऩे जाने लगा तभी पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार सतीश को पकड़ते ही पत्नी व बच्चे जोर-जोर से आवाज लगाने लगे। वहां दूसरे यात्रियों की भीड़ एकत्रित हो गई। सतीश सरावगी को गुरुवार दोपहर 2.40 बजे गिरफ्तार किया गया। 

इंकम टैक्स ने की पूछताछ
कटनी में हुए करोड़ों के हवाला कारोबार मामले में क्राइम एंगल की जांच कर रही पुलिस ने सतीश सरावगी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद गुरुवार की शाम कोतवाली में इंकम टैक्स के अधिकारियों ने सतीश सरावगी से पूछताछ की। इस मामले में ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) के अधिकारी जल्द ही सतीश सरावगी के पूछताछ करेंगे। कटनी पुलिस ने सतीश सरावगी की गिरफ्तारी की जानकारी गुरुवार की दोपहर ही ईडी को दे दी थी।

हवाला में 4 एफआईआर, 2 की जांच में आरोपी हैं सरावगी बंधु
कटनी पुलिस हवाला मामले में दर्ज 4 एफआईआर पर जांच कर रही है। इसमें दो एफआईआर की जांच के दौरान सतीश सरावगी व मनीष सरावगी आरोपी बने हैं। एफआईआर में फरियादी भिक्षुक के बेटे रजनीश तिवारी और ऑटोमोबाइल दुकान में काम करने वाले कर्मचारी विनय जैन फरियादी हैं। शेष दो एफआईआर में फरियादी उमादत्त हल्दकार और होमगार्ड जवान के बेेटे अमर दहायत है। 

हवाला में अब तक ये 4 हुए गिरफ्तार
- 5 जनवरी को सतीश सरावगी, मनीष सरावगी के यहां अकाउटेंट रहे डाटा इंट्री ऑपरेटर संदीप बर्मन। 
- 11 फरवरी को मानवेंद्र मिस्त्री की गिरफ्तारी जबलपुर से हुई है। आरोप है सिगनेचर एक्सपर्ट मानवेंद्र एसके मिनरल्स व अन्य फर्में ऑपरेट करता था। 
- 1 मार्च को डॉ. जीनेंद्र जैन और अनंत आर्य (मोंटू) की गिरफ्तारी हुई। उमादत्त हल्दकार की शिकायत में दर्ज एफआईआर में दोनों आरोपी बने। 


रिमांड में लेकर पुलिस करेगी पूछताछ
हवाला में सतीश सरावगी को रिमांड में लेकर पूछताछ की जाएगी। उसके द्वारा बताए गए ठिकानों पर दबिश दी जाएगी। सतीश के बयान के बाद जो भी नए नाम सामने आएंगे, उनसे भी पूछताछ होगी। 

अभी हैं ये फरार
मनीष सरावगी
मो. यासीन
अजीत कुमार 
दस्सू पटेल
नरेश बर्मन
परेश पोद्दार
राकेश यादव
आशीष दलवी
आनंद श्रीवास्तव व अन्य

हवाला कांड की फैक्ट फाइल
- 30 मार्च को भिक्षुक के बेटे रजनीश तिवारी ने पहली बार शिकायत दर्ज कराई। 
- 12 जुलाई को एसपी गौरव तिवारी के निर्देश पर एफआईआर दर्ज हुई। जांच के लिए अलग से कर्मचारियों की टीम बनी। 
- 32 से ज्यादा फर्जी फर्म, 40 से ज्यादा बोगस खातों की जानकारी जांच में सामने आईं। 
- 20 से ज्यादा को पूछताछ के लिए नोटिस जारी हुए। नोटिस जारी होते ही संबंधित लापता होते गए। 
- 5 जनवरी को पहली गिरफ्तारी संदीप बर्मन की हुई। संदीप सतीश-मनीष सरावगी के यहां डाटा इंट्री ऑपरेटर रहा। 
- 6 जनवरी को सरावगी ब्रदर्स के अकाउंटेंट रहे संजय तिवारी से पूछताछ के बाद सरकारी गवाह बनाया गया। 
- 6 जनवरी को ही पुलिस ने नष्ट करने के लिए ले जाए जा रहे 27 बोरी दस्तावेज जब्त किए। 
- 9 जनवरी को मामले की जांच कर रहे एसपी गौरव तिवारी को अचानक ट्रांसफर में छिंदवाड़ा भेज दिया गया। 
- 10 जनवरी को विरोध में कटनी की पब्लिक सड़क पर उतर आई। विरोध का सिलसिला कई दिनों तक चला। 
- 21 जनवरी को सतीश सरावगी द्वारा किराए में लिए गए मकान से हवाला के और दस्तावेज जब्त किए गए। इसमें 150 से ज्यादा बोगस फर्मों की जानकारी मिली जो लिंकेज का कोयला लेने के लिए बनी थी। 
- 11 फरवरी को मानवेंद्र मिस्त्री की गिरफ्तारी हुई। ईडी की टीम ने 15-16 फरवरी को जेल में मानवेंद्र मिस्त्री के बयान लिए।  
- 20-21 फरवरी की दरमियानी रात संतोष गर्ग की मौत हरिद्वार में हुई। वह हवाला मामले में दर्ज चौथी एफआरआई में आरोपी था। 
- 22 फरवरी को सतीश सरावगी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने उसके घंटाघर स्थित घर पर दबिश दी। 
-8 मार्च को आरोपी मनीष सरावगी ने अग्रिम जमानत की अर्जी जिला एवं सत्र न्यायालय कटनी में लगाया। यहां अग्रिम जमानत की अर्जी खरिज कर दी गई।

Web Title "Havala accused satish saravgi arrested in jabalpur "

Rajasthan Patrika Live TV