सर्विस चार्ज देना, ना देना आपकी मर्जी, केंद्र  ने तैयार की गाइडलाइन

New Delhi, Delhi, India

होटल और रेस्टोरेंट में लिया जाने वाला सर्विस चार्ज पूर्णतः ऐच्छिक है। इसकी कोई अनिवार्यता नहीं है। यह कहना है केंद्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण मंत्री रामविलास पासवान का।

नई दिल्ली. होटल और रेस्टोरेंट में लिया जाने वाला सर्विस चार्ज पूर्णतः ऐच्छिक है। इसकी कोई अनिवार्यता नहीं है। यह कहना है केंद्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण मंत्री रामविलास पासवान का। केद्रीय मंत्री ने साफ करते हुए कहा कि सर्विस चार्ज ग्राहक के मन पर निर्भर करता है। यदि ग्राहक की इच्छा है तो वह सर्विस चार्ज देगा। नहीं तो इसके लिए किसी प्रकार की कोई बाध्यता नहीं है। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि इस संबंध में नया निर्देश राज्य सरकारों के पास भेजा जा रहा है, ताकि राज्यों की सरकार अपने स्तर से इसको लागू करें। बता दें कि सर्विस चार्ज को लेकर सरकार ने एक आदेश जारी किया है। इसमें साफ तौर पर कहा गया है कि सर्विस चार्ज जरूरी नहीं है। इस नए आदेश को पीएमओ से मान्यता मिल चुकी है। 

ग्राहक की मर्जी टिप्स दें या न दें
सरकार ने साफ किया कि यह आप कस्टमर की मर्जी पर निर्भर करता है कि आप टिप्स दें या ना दें। यदि दें भी तो कितना दें यह आपके स्वविवेक पर निर्भर है। कोई भी होटल या रेस्टोरेंट किसी ग्राहक को सर्विस चार्ज के भुगतान के लिए बाध्य नहीं कर सकता। 

की जा सकती है कानूनी कारवाई 
यदि किसी होटल या रेस्टोरेंट में खाने के बाद आपके बिल में आपसे बिना पुछे सर्विस चार्ज जोड़ दिया गया हो, तो आप कानूनी कारवाई कर सकते है। इसके लिए ग्राहक उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा सकती है।

जनवरी में ही जारी किया गया था निर्देश
सर्विस चार्ज को लेकर उपभोक्ता मंत्रालय ने जनवरी में ही यह निर्देश जारी किया था। इस पर कई होटल संचालकों ने अपना विरोध भी प्रकट किया था। मगर अब सरकार द्वारा जारी इस नए दिशा-निर्देश से ग्राहकों को ज्यादा सहुलियत होगी। 

खाने की बर्बादी पर जताई चिंता 
केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने होटल व रेस्टोरेंट में होने वाली खाने की बर्बादी पर गंभीर चिंता जताई। हालांकि उन्होंने इस मामले में कोई कानून बनाने से स्पष्ट रूप से इन्कार किया। पासवान ने इस दिशा में लोगों से स्वतः आगे आने की अपील की। 

Web Title "Service Charge is totally voluntary and not mandatory "

Rajasthan Patrika Live TV