शशिकला ने अफसरों से कहा- मैं चोर नहीं;  जेल में पहली रात नहीं आई नींद 

Chennai, Tamil Nadu, India

सूत्रों के हवाले से कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक़ जेल लाए जाने के बाद से शशिकला के चेहरे पर थकान और चिंता साफ़ झलक रही थी।

बंगलुरू. आय से अधिक संपत्ति मामले में 4 साल की सजा के बाद जेल ले जाने के दौरान शशिकला ने खुद के साथ अपराधियों की तरह व्यवहार किए जाने पर नाराजगी जताई। उन्होंने अफसरों से कहा कि वे कोई चोर नहीं हैं जो जीप में बैठे। बंगलुरू मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक़ बुधवार को बंगलुरू जेल ले जाने के दौरान शशिकला ने खुली जीप में बैठने से इनकार कर दिया। उन्होंने अफसरों से कहा कि वे अपराधियों की तरह खुली जीप में नहीं बैठेंगी। वे जितनी भी दूरी हो पैदल चल कर जाना पसंद करेंगी। शशिकला को चार साल इसी जेल में रहकर सजा पूरी करनी है। नीचे पढ़ सकते हैं जेल में कैसा रहा शशिकला का पहला दिन  

फ्रस्टेड हैं शशिकला 

सूत्रों के हवाले से कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक़ जेल लाए जाने के बाद से शशिकला के चेहरे पर थकान और चिंता साफ़ झलक रही थी। दरअसल, शशिकला ने सोचा था कि उन्हें जेल में वह सभी सुविधाएं मिलेंगी जब वे जयललिता के साथ जेल गई थीं।उस वक्त जयललिता तमिलनाडु की सीएम थीं और उन्हें स्वास्थ्य की समस्याएं थीं। इस वजह से उन्हें जेल में A ग्रेड सुविधाएं दी गई थीं। जयललिता को मिली इन सुविधाओं का फायदा शशिकला को भी मिला था। लेकिन इस बार मामला दूसरा है। कोर्ट ने शशिकला को वीआईपी कैदी को मिलने वाला ट्रीटमेंट देने से साफ़ इनकार कर दिया है। उन्हें जेल में सामान्य कैदी की तरह रहना होगा। 

जेल में कैसा रहा शशिकला का पहला दिन 

जेल सूत्रों के मुताबिक़ पहली रात जेल में शशिकला बहुत शांत रही। वो पूरी रात सो नहीं पाई। उन्हें जेल में 10/8 सेल दिया गया है। इसमें वॉशरूम भी है। उन्हें अपनी रिश्तेदार के साथ यह सेल शेयर करना होगा।  उन्होंने किसी से बात नहीं की। यहां तक कि उन्होंने तमिलनाडु को लेकर भी किसी से कोई पूछताछ नहीं की। 

Web Title "Quiet day night for Sasikala in jail and she didnt sleep whole night "