नोटबंदी के दौरान हेराफेरी के आरोप में डाक सेवा के निदेशक समेत 2 अफसर गिरफ्तार 

New Delhi, Delhi, India

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने नोटबंदी के दौरान गलत तरीके से 500 और 1000 रूपए के रद्द नोटों को बदलने के मामले में सोमवार को गुजरात के अहमदाबाद से पोस्टल सेवा के एक निदेशक समेत दो वरिष्ठ अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया। 

 अहमदाबाद. केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने नोटबंदी के दौरान गलत तरीके से 500 और 1000 रूपए के रद्द नोटों को बदलने के मामले में सोमवार को गुजरात के अहमदाबाद से पोस्टल सेवा के एक निदेशक समेत दो वरिष्ठ अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया। यहां खानपुर स्थित मुख्य डाकघर के निदेशक, पोस्टर सेवाएं, मनोज कुमार और आश्रम रोड पोस्ट ऑफिस में तैनात वरिष्ठ अधीक्षक संजय अखाडे को बाद में शहर के मिर्जापुर स्थित सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया गया, जिसने आगे पूछताछ के लिए दोनों को 23 मार्च तक सीबीआई के रिमांड पर भेज दिया गया। सीबीआई के एक अधिकारी ने बताया कि एजेंसी ने पाया था कि शहर के नवरंगपुरा मुख्य पोस्टऑफिस में नोटबंदी की घोषणा के एक दिन बाद नौ नवंबर को बंदी होने के बावजूद करीब छह लाख 59 हजार 800 रूपए की पुराने नोटों की अदलाबदली की गई थी। 

घर से बरामत हुए थे एक लाख रुपए
नकदी से संबंधित रिकार्ड में भी गडबड़ी पाई गई थी । इस संबंध में नौ स्थानों पर छापेमारी की गई थी। इसमें उक्त निदेशक के घर से एक लाख रूपए तथा कार्यालय से एक लाख 66 हजार के नए नोट मिले थे। सीबीआई ने इस प्रकरण के संबंध में छापेमारी से पूर्व ही गत सात मार्च को एक मामला दर्ज किया था। माना जा रहा है कि यह मामला करोडो रूपए की हेराफेरी से जुडा हो सकता है और इसमें बैंक कर्मियों की मिलीभगत भी हो सकती है। इस संबंध में विस्तृत पडताल जारी है। 


Web Title "CBI arrests Director of Postal Services & amp in a case relating to exchange of demonetised currency "

Rajasthan Patrika Live TV