सरकारी कार्यालय में सुविधा ऐसी की आईएसओ ने दे दिया सर्टिफिकेट

rajendra parihar

Publish: Mar, 16 2017 10:29:00 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

आईएसओ सर्टिफाइट हुआ जिला पंचायत कार्यालय प्रदेश के चार जिला पंचायत कार्यालयों को मिला है आईएसओ सर्टिफिकेट

होशंगाबाद. नागरिकों को बेहतर सुविधा देने और उत्कृष्ट प्रशासनिक व्यवस्था पर गुरुवार को आईएसओ इंडिया प्राईवेट लिमिटेड द्वारा जिला पंचायत कार्यालय को आईएसओ 9001-2015 सर्टिफिकेट दिया गया। कलेकटर अविनाश लवानिया और कंपनी के प्रोग्रेसिव ऑडीटर विजय कुमार घोष ने जिला पंचायत सीईओ पीसी शर्मा को उक्त प्रमाण पत्र दिया। जिला पंचायत कार्यालय में शिकायत पेटी, पेयजल व्यवस्था, सुरक्षा व्यवस्था, स्वच्छता व्यवस्था, दस्तावेजों का संधारण, कर्मचारियों को दी जाने वाली सुविधा सहित तमाम बिंदुओं पर कंपनी की टीम ने कार्यालय का निरीक्षण किया था। निरीक्षण के उपरांत दी गई रिपोर्ट के आधार पर जिपं कार्यालय को प्रमाण पत्र दिया गया है।
प्रदेश के चार कार्यालयों को मिला अवार्ड
कंपनी द्वारा होशंगाबाद के अलावा प्रदेश में भोपाल, दमोह और सीहोर जिला पंचायत कार्यालय भी शामिल है। भोपाल राजधानी मुख्यालय है और सीहोर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का गृह जिला है। इसके अलावा दमोह में पदस्थ रहने के दौरान ही जिला पंचायत सीईओ पीसी शर्मा ने ही यह अवार्ड दिलवाया था। जिला पंचायत कार्यालय को भले ही सर्टिफिकेट मिल गया हो लेकिन इन मानकों को बरकरार रखने के लिए अधिकारियों और कर्मचारियों को ध्यान देना होगा।
चार साल में दो बार होगा ऑडिट
कंपनी द्वारा दिए गए इस प्रमाण पत्र की वैद्यता वर्ष 2020 तक है। इसके लिए कंपनी के अधिकारियों द्वारा 11 जनवरी 2018 व 11 जनवरी 2019 में दो बार ऑडिट किया जाएगा। ऑडिट के दौरान यदि जिला पंचायत कार्यायल में सभी मानक यथावत पाए गए या इनमें कोई बढ़ोत्तरी होती है तो यह प्रमाण पत्र आगे भी वैद्य रहेगा। यदि व्यवस्थाओं और सुविधाओं में कोई कमी होती है या कंपनी के मानकों पर कार्यालय खरा नहीं उतरता है तो यह प्रमाण पत्र अधिकारियों से छिन जाएगा।
ग्राम पंचायत तक पहुंचाएंगे व्यवस्था
जिला पंचायत कार्यालय को भले ही उक्त प्रमाण पत्र मिल गया हो लेकिन सीईओ शर्मा की इसे और आगे बढ़ाने की योजना है। सीईओ शर्मा ने बताया कि कार्यालय में व्यवस्थाओं की निगरानी के लिए कार्यालयीन कर्मचारियों की 16 टीम बनाई गई हैं। टीम में शामिल अधिकारी अपनी-अपनी जिम्मेदारियों की मॉनीटरिंग करेंगे और जरूरी पडऩे पर अधिकारियों से सुझाव भी लेंगे। सीईओ शर्मा ने बताया कि इस व्यवस्था को जिला पंचायत कार्यालय के अलावा जनपद पंचायत व ग्राम पंचायत कार्यालय तक भी पहुंचाया जाएगा।
इनका कहना है
कर्मचारियों और अधिकारियों की मेहनत का नजीता है जो जिला पंचायत कार्यालय को यह सर्टिफिकेट मिला है। इन व्यवस्थाओं को बनाए रखने के लिए कर्मचारियों की 16 टीम बनाई गईं हैं। इसके साथ ही जनपद पंचायत और ग्राम पंचायत कार्यालयों को इसी तर्ज पर तैयार कराने की योजना है।
पीसी शर्मा, सीईओ जिपं


Web Title "The facility given by the ISO official in the government office. "

Rajasthan Patrika Live TV