गोपाल असंल को राहत नहीं, जाएंगे जेल

Mukesh Sharma

Publish: Mar, 20 2017 11:43:00 (IST)

New Delhi, Delhi, India

उपहार सिनेमा कांड के आरोपी गोपाल अंसल को सुप्रीम कोर्ट ने आत्मसमर्पण के लिए और मोहलत देने से

नई दिल्ली।उपहार सिनेमा कांड के आरोपी गोपाल अंसल को सुप्रीम कोर्ट ने आत्मसमर्पण के लिए और मोहलत देने से इनकार कर दिया है। कोर्ट ने उनके वकीस राम जेठमलानी की दलीलों को दरकिनार कर दिया। अब उन्हें तुरंत आत्मसमर्पण कर जेल जाना होगा। इससे पहले गोपाल की याचिका स्वीकार करते हुए 10 दिन की राहत दी थी। जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस कुरियन जोसेफ और जस्टिस ए के गोयल की खंडपीठ ने अंसल को सजा की 7 महीने की बाकी अवधि पूरी करने को 20 मार्च को सरेंडर का निर्देश दिया।

गोपाल अंसल स्वास्थ्य के आधार पर अपने भाई सुशील अंसल की तरह जेल की बाकी सजा में छूट की मांग कर रहे हैं।
             

 गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई करते हुए गोपाल अंसल को जेल की बाकी सजा काटने का निर्देश दिया था, जबकि उनके बड़े भाई सुशील अंसल को जेल की सजा से राहत दी गयी थी। कोर्ट ने उनकी उम्र संबंधी दिक्कतों को ध्यान में रखते हुये कहा था कि उन्होंने पहले ही जेल की सजा काट ली। साथ ही कोर्ट ने अंसल बंधुओं पर निचली अदालत की ओर से लगाये गये 30-30 करोड़ के जुर्माने को बरकरार रखा था।

गोपाल अंसल की ओर से भी इसी तरह की राहत का अनुरोध करते हुये दावा किया है कि उसकी आयु 69 वर्ष की है और अगर उसे जेल भेजा गया तो उसके स्वास्थ्य को नुकसान होगा।
ये है मामला: वर्ष 1997 में उपहार सिनेमा अग्निकांड उस वक्त हुआ जब उपहार सिनेमा में हिन्दी फिल्म 'बॉर्डरÓ चल रही थी। इस अग्निकांड में 59 दर्शकों की मृत्यु हो गई थी। जिसमें करीब दो दर्जन बच्चे शामिल थे। मामले में रियल स्टेट कारोबारी और उपहार सिनेमा के मालिक अंसल बंधुओं को लापरवाही बरतने का दोषी करार दिया गया।

Web Title "No relief Gopal asanla, will gel "