मध्यप्रदेश : सहकारी समिति में भड़की आग, 25 जिंदा जले

NICS Team

Publish: Apr, 21 2017 08:23:00 (IST)

Crime

मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले मेें स्थित सहकारी समिति केंद्र में केरोसिन वितरण के दौरान केरोसिन में लगी आग से करीब 25 लोगों की मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार बारगी सहकारी समिति केंद्र में शुक्रवार को केरोसिन और खाद्यान्न वितरण किया जा रहा था।

प्रभा शंकर 
छिंदवाड़ा.  मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले मेें स्थित सहकारी समिति केंद्र में केरोसिन वितरण के दौरान केरोसिन में लगी आग से करीब 25 लोगों की मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार बारगी सहकारी समिति केंद्र में शुक्रवार को केरोसिन और खाद्यान्न वितरण किया जा रहा था। राशन लेने के करीब सैकड़ों ग्रामीण कतार में भवन के सामने मौजूद थे। जबकि कक्ष के अंदर करीब तीन दर्जन से अधिक लोग थे। इसी दौरान केरोसिन में आग लग गई। इससे पहले कि लोग कुछ समझ पाते केरोसिन ने पूरे कक्ष को अपनी चपेट में ले लिया। इस दौरान मची अफरा तफरी से कक्ष में मौजूद लोग बाहर भी नहीं निकल पाए। जानकारी के अनुसार कक्ष में करीब दो दर्जन लोगों के जिंदा जलने की खबर है। खबर लिखे जाने तक करीब दस शव बाहर निकाले जा चुके थे।
 

प्रधानमंत्री मोदी ने व्यक्त की संवेदना 
छिंदवाड़ा में हुए आगजनी के केस में जिंदा जले लोगों के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की  है। पीएम ऑफिस के ट्वीट पेज पर लिखा गया कि मेरी संवेदना इस दुर्घटना में अपने करीबियों को खोने वाले हर व्यक्ति के साथ है। यह दुर्घटना चौकानें वाला है। साथ ही पीएम मोदी राज्य सरकार को इस घटने की जांच करने की बात कहीं। 

ऐसे घटी घटना 
जानकारी के अनुसार हर्रई से करीब पांच किलोमीटर दूर बटकाखापा रोड पर स्थित ग्राम बारगी में शुक्रवार को सहकारी समिति में केरोसिन और खाद्यान्न वितरण किया जा रहा था। राशन लेने के लिए सैकड़ों ग्रामीण भवन के सामने कतार में मौजूद थे। खाद्य वितरण कक्ष के अंदर ढाई दर्जन लोग अनाज ले रहे थे। वहीं कक्ष के गेट पर ही केरोसिन बांट जा रहा था। इसी दौरान अज्ञात कारणों से केरोसिन के ड्रम में आग लग गई। आग भड़कने से कक्ष के अंदर मौजूद करीब ढाई दर्जन लोगों में बाहर निकलने के लिए अफरा-तफरी मच गई। कक्ष में एक अन्य दरवाजा भी था, लेकिन गेहूं की बोरिया रखी होने के कारण वह बंद था। जबकि जिस दरवाजे से निकासी थी आग वहीं भड़की थी। इसी वजह से अंदर मौजूद करीब 25 लोग बाहर ही नहीं निकल सके और जिंदा जलने से मौत हो गई। मृतकों में सहकारी समिति का सेल्समैन राकेश कहार भी शामिल है।


नहीं थे सुरक्षा के इंतजाम 
मिली जानकारी के अनुसार मौके पर आग बुझाने के कोई इंतजाम नहीं थे। घटना की सूचना पर हर्रई नगर पंचायत से एक फायर ब्रिगेड और कुछ पानी के टैंकरों को मौके पर पहुंचाया गया, लेकिन तब तक आग से काफी जनहानि हो चुकी थी। फायर ब्रिगेड और ग्रामीणों की मदद से करीब एक घंटे में आग पर काबू पाया गया। एसडीओपी, तहसीलदार और टीआई ने भी मौके पर पहुंचकर जायजा लिया और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। सांसद ने कलेक्टर-एसपी से की चर्चा इस घटना की सूचना मिलते ही सांसद कमलनाथ ने तुरंत दूरभाष पर कलेक्टर जेके जैन और पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी से चर्चा कर हादसे की पूरी जानकारी ली। उन्होंने दोनों अधिकारियों को घटनास्थल पर पहुंचकर मृतकों के परिवारों को प्रशासन की ओर से सहायता और मदद देने के लिए निर्देशित किया। 

प्रभारी मंत्री ने की व्यक्त की शोक संवेदना 
प्रदेश के किसान कल्याण एवं कृषि विकास तथा जिले के प्रभारी मंत्री गौरी शंकर बिसेन ने हर्रई में हुई अग्नि दुर्घटना पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की। उन्होंने मृतकों के आत्म शांति की प्रार्थना करते हुए उनके परिजन को प्राकृतिक आपदा से 4-4 लाख देने को कहा। बिसेन ने बताया कि इसके अलावा 10-10 हजार रुपए भारतीय रेड क्रॉस से देने के निर्देश कलेक्टर को दिए गए हैं। कलेक्टर जेके जैन भी घटना स्थल पर पहुंच चुके हैं। बिसेन ने कहा कि घायलों के समुचित इलाज व सहायता की जाएगी।


सरकार ने दिए जांच के आदेश 
मध्यप्रदेश सरकार ने इस घटना के न्यायिक जांच के आदेश दिए है। 

एसपी ने की 13 के मौत की पुष्टि 
बाहर रखे केरोसिन के ड्रम से भड़की आग ही अंदर फैली है। निकलने के लिए एक ही दरवाजा होने के कारण अंदर मौजूद बाहर नहीं निकल सके। हादसे में अब तक चार महिला सहित 13 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। 

Web Title "MP: 25 live burns in Co-operative committee "

Rajasthan Patrika Live TV