कोहली, स्मिथ के  खिलाफ नहीं होगी कोई कार्रवाई : आईसीसी

Cricket

आईसीसी ने एक बयान जारी कर कहा, आईसीसी ने इस मामले में दोनों घटनाओं पर विचार किया और इस नतीजे पर पहुंचा कि किसी भी खिलाड़ी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी

दुबई। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने बुधवार को कहा कि मंगलवार को संपन्न दूसरे टेस्ट मैच के संबंध में भारतीय कप्तान विराट कोहली और आस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। गौरतलब है कि बेंगलूरु टेस्ट में आस्ट्रेलिया की दूसरी पारी के दौरान उमेश यादव की गेंद पर स्मिथ को पगबाधा दिए जाने के बाद कोहली और स्मिथ के बीच थोड़ी कहासुनी हो गई थी।

पगबाधा करार दिए जाने के बाद ऐसा प्रतीत हुआ कि स्मिथ डीआरएस लेने के लिए आस्ट्रेलियाई ड्रेसिंग रूम से संकेत मांगते दिखे। मैदानी अंपायर निजेल लोंग ने उन्हें ऐसा करने से रोका भी, जिसके बाद कोहली, स्मिथ से उलझ पड़े।

आईसीसी ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा, आईसीसी ने इस मामले में दोनों घटनाओं पर विचार किया और इस नतीजे पर पहुंचा कि किसी भी खिलाड़ी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। आईसीसी पूरी तरह स्पष्ट है कि किसी भी खिलाड़ी पर आचार संहिता का कोई मामला नहीं बनता।

आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड रिचर्डसन ने कहा कि बेहद प्रतिस्पर्धी रहे इस टेस्ट मैच में खिलाड़ी ऊर्जा और आवेश में थे, हालांकि मैच अधिकारियों और दोनों टीमों के कप्तानों को अगले मैचों के दौरान इस तरह की स्थितियों को नजरअंदाज करने की कोशिश करनी चाहिए।


बैंगलोर टेस्ट में न सिर्फ भारत जीता बल्कि दोहराया 115 साल पुराना इतिहास!
बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के दूसरे महत्वपूर्ण मैच में भारत ने वापसी करते हुए 1-1 से बराबरी कर ली है। मैच के चौथे दिन लडखडाने के बाद भारत ने कोई गलती नहीं की। मैच के चौथे दिन 188 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया का 112 रन पर ही जुलूस निकल गया। आर आश्विन की फिरकी में सभी ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज बेबस नजर आए। उन्होंने 12.4 ओवर की गेंदबाजी में 41 रन देकर छह विकेट हासिल किए। मैच में भारत को 75 रन से जीत हासिल हुई।यह भी एक रिकॉर्ड है कि चौथे दिन के खेल में भारत और ऑस्ट्रेलिया के 16 विकेट गिरे।

इससे पहले इसी मैच की पहली पारी में रविन्द्र जडेजा ने भी यही कारनामा किया था. जडेजा ने पहली पारी के दौरान ऑस्ट्रेलिया के 6 बल्लेबाजों को आउट कर पवेलियन की राह दिखाई।

इस मैच में एक ऐसा अनोखा रिकॉर्ड सामने आया जो पिछले 115 सालों में कभी भी क्रिकेट के मैदान पर नहीं देखा गया. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए इस टेस्ट मैच की चारों पारियों में किसी एक गेंदबाज़ ने 6-6 विकेट चटकाए।

क्रिकेट के इतिहास में आखिरी बार ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच एमसीजी में साल 1902 में किसी टेस्ट मैच की चारों पारियों में गेंदबाज़ों ने 6-6 विकेट चटकाए थे।

उससे पहले भी साल 1896 में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच ओवल के मैदान पर गेंदबाज़ों ने टेस्ट हर एक पारी में 6-6 विकेट झटक लिए थे। यानि पिछली 100 सालों से भी ज्यादा के वक्त में किसी अंतराष्ट्रीय मैच में ये कारनामा नहीं देखा गया।

Web Title "DRS row : No action will be taken against Kohli Smith, clears ICC "

Rajasthan Patrika Live TV