मोबाइल बैट्री की लाइफ बचाएगी पावरजीट डिवाइस!

Mukesh Sharma

Publish: Mar, 20 2017 09:54:00 (IST)

Chennai, Tamil Nadu, India

नया मोबाइल खरीदने के कुछ महीने बाद उपभोक्ताओं को जल्द बैट्री डिस्चार्ज की समस्या सताने लगती है। यह सब

चेन्नई।नया मोबाइल खरीदने के कुछ महीने बाद उपभोक्ताओं को जल्द बैट्री डिस्चार्ज की समस्या सताने लगती है। यह सब बैट्री की सही तरह से देखभाल के अभाव में होता है।

इसी समस्या से निजात दिलाने और मोबाइल की बैट्री को सदा बेहतर स्थिति में बनाए रखने के लिए चेन्नई के एसआरएम विश्वविद्यालय के दो छात्रों ने एक नई खोज की है। इस नई खोज का नाम दोनों विद्यार्थियों ने पावरजीट दिया है।

यह एक तरह की डिवाइस है जिसे मोबाइल में लगाया जाता है। यह बैट्री की लाइफ को खराब होने से बचाकर उसे बेहतर अवस्था में रखेगी। इस तकनीक की मदद से स्मार्टफोन ओवरहिटिंग समस्या से बचाता है और मोबाइल की बैट्री लम्बे समय बेहतर अवस्था में रहती है। इसे बिना किसी परेशानी के स्मार्टफोन में लगाया जा सकता है।

परेशान होकर शुरू किया हल ढूंढऩा

इस तकनीक का विकास करने वाले एयरोस्पेस के छात्र विशाल वेद का कहना है कि वह और उसके दोस्त हमेशा मोबाइल बैट्री के डिस्चार्ज होने की समस्या से जूझते रहते थे, इसलिए उन्होंने इसे बचाने का रास्ता ढूंढऩा शुरू किया। इसी दौरान उनके दिमाग में इस तकनीक विकसित करने का विचार आया। राजस्थान के कोटा जिले के भवानीमंडी स्थित पचपहाड़ गांव निवासी विशाल ने बताया कि उसकी मां हमेशा नई चीजों के लिए प्रोत्साहित करती हैं। यही कारण है कि उनका दिमाग हर व्यावहारिक समस्या के समाधान की खोज में लग जाता है। विशाल एसआरएम में बीटेक द्वितीय वर्ष का छात्र है।

तकनीक के विकास में लगे पांच महीने

मध्यप्रदेश के जबलपुर निवासी श्रेयांक श्रीवास्तव जो मैकेनिकल विभाग का छात्र है ने बताया कि उसे इस तकनीक का विस्तार करने में करीब 5 महीने का समय लगा। लगभग 45 प्रयोगों के बाद 46वें प्रयोग में इसमें सफलता हाथ लगी। गौरतलब है कि दोनों छात्रों ने इस तकनीक का पेटेंट राइट अपने नाम ले रखा है। इन दोनों ने कई और तकनीकों का भी विकास किया है जिनका पेटेंट भी अपने नाम ले रखा है। इन दोनों ने एक ऐसी मशीन का निर्माण किया है जिसके द्वारा ऑर्डर करने पर किसी भी राशि की कोल्ड ड्रिंक मिलती है। इसके अलावा वाशिंग मशीन में डिटर्जेंट को स्टोर कर उसे जरूरत के अनुसार मशीन द्वारा खुद ही उस स्टोरेज से डिटर्जेंट ले लेना। इस तकनीक का विकास इन्हीं दोनों छात्रों के दिमाग की उपज है। अपनी सभी विकसित तकनीकों पर दोनों ने पेटेंट राइट ले रखा है।

शुरू करना चाहते हैं अपनी कंपनी

इन दोनों का कहना है कि भविष्य में वे ऐसी कंपनी शुरू करना चाहते हैं जिनमें व्यावहारिक जीवन के प्रयोग और समस्याओं का समाधान शोध के माध्यम से किया जाए। वे अपने साथ अपने जैसे युवाओं को वह मौका देना चाहते हैं जिससे वे वंचित रहे हैं।

रीतेश रंजन

Web Title "PowerGet device will save mobile battery life! "

Rajasthan Patrika Live TV