नदी का पानी सूखने से लाखों मछलियां मरी

Mukesh Sharma

Publish: Mar, 20 2017 10:16:00 (IST)

Bangalore, Karnataka, India

भीषण गर्मी के चलते तुंगभद्रा नदी का पानी सूख चुका है। पानी सूख जाने के कारण सिरुगुप्पा के निकट हरिगोल

बल्लारी।भीषण गर्मी के चलते तुंगभद्रा नदी का पानी सूख चुका है। पानी सूख जाने के कारण सिरुगुप्पा के निकट हरिगोल घाट में लाखों मछलियां मर चुकी हैं। जिले के सिरुगुप्पा शहर के निकट बहने वाली तुंगभद्रस नदी के हरिगोलु घाट वाले क्षेत्र में पानी इससे पहले कभी नहीं सूखा था।

लगभग 2.5 किलोमीटर लंबे, 70 फीट गहरे तथा 300 फीट चौड़े हरिगोलु घाट में भीषण गर्मी के बावजूद सदैव पानी बहता रहा था। निकटवर्ती क्षेत्रों में बसे नागरिकों व जानवरों के लिए पानी का जरिया यही एक घाट  था। इसी घाट की वजह से नागरिकों को पानी की किल्लत का सामना इससे पहले कभी नहीं करना पड़ा। सिरुगुप्पा शहर के लिए जलापूर्ति का स्रोत सूख जाने के बावजूद भी पाइप लाइन की मदद से पानी मुहैया करवाया जा रहा है। इस  क्षेत्र में रहने वालों का जीवन मछलियों पर ही निर्भर था। संपन्न जलस्रोत के रूप में जाना जाने वाला यह घाट आज पूरी तरह से सूख चुका है। पानी के सूख जाने का एक कारण यह भी है कि किसानों को सूचित किया गया था कि वे ग्रीष्मकालीन उपज की कृषि न करें। कुछ क्षेत्रों में किसान अपने खेतों को सींचने के लिए इसी घाट के पानी का प्रयोग किया करते थे।

आज घाट पूरी तरह से सूख चुका है जिसके कारण लाखों मछलियां मर चुकी है। दूर दूर तक रेत में मछलियां मृत पड़ी दिखाई दे रही है। वहां के नागरिक लोक प्रतिनिधि तथा अधिकारियों से अपील कर रहे हैं कि वे बांध से कुछ मात्रा में पानी नदी में छोड़ें।

Web Title "Millions of fish died after drying of river water "

Rajasthan Patrika Live TV