आदेश को चुनौती दे सीबीआई

Mukesh Sharma

Publish: Apr, 20 2017 12:10:00 (IST)

Ahmedabad, Gujarat, India

विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डॉ. प्रवीण तोगडिय़ा ने बाबरी विध्वंस मामले में हिन्दू

अहमदाबाद।विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डॉ. प्रवीण तोगडिय़ा ने बाबरी विध्वंस मामले में हिन्दू नेताओं पर षडयंत्र का मुकदमा चलाने के आदेश को तुरंत बड़ी खंडपीठ में चुनौती देने की केंद्र सरकार के अधीन सीबीआई से मांग की है।

उन्होंने यहां बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के दो न्यायाधीश न्यायमूर्ति पिनाकी चंद्र घोष और न्यायमूर्ति रोहिटन फली नरीमन की पीठ ने सीबीआई की अपील पर राम जन्मभूमि मंदिर के संदर्भ में यह निर्णय दिया है। केंद्र सरकार के अधीन सीबीआई ने हिन्दुओं को षडयंत्रकारी सिद्ध करने का मुकदमा दायर करने का आदेश सुप्रीम कोर्ट से दिला दिया है।

षडयंत्रकारी तो बाबर

उन्होंने पूछा कि 90 वर्ष की आयु में बिस्तर पर पड़े और हिन्दुओं के लिए अपना व्यवसाय छोडऩे वाले विहिप के वरिष्ठ नेता विष्णुहरि डालमिया, हिन्दू नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, साध्वी ऋतंभरा षडयंत्रकारी के नाते जेल में जाएंगे? उन्होंने कहा कि षडयंत्रकारी तो वह बाबरथा, जिसने मंगोलिया से आकर हमारा राम जन्मभूमि मंदिर तोड़ा।
उन्होंने कहा कि षडयंत्रकारी का मामला दर्ज करना हैतो बाबर और भारत में जिंदा उसके अनुयायियों पर किया जाए। षडयंत्र तो वह था जब हमारा काशी विश्वनाथ मंदिर तोड़ा गया, मथुरा में कृष्ण जन्मभूमि तोड़ी गई, देश के 30 हजार मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाई गई, अहमदाबाद मेंं महाकाली का मंदिर तोड़कर जामा मस्जिद बनाई गई। इसलिए षडयंत्र के लिए एफआईआर दर्ज करनी हो तो तीस हजार मंदिर तोड़कर बनी मस्जिदों, अहमदाबाद की जामा मस्जिद के मौलवियों, ईमामों पर दर्ज की जाए जिन्होंने मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाई।

 उन्होंने कहा कि इस देश में सबसे बड़ा षडयंत्र वह था जब 1990 में काश्मीर में लाखों हिन्दुओं के घर छीन लिए गए, हिन्दुओं का भयावह कत्ल किया गया, चार लाख हिन्दुओं को भगा दिया। जम्मू-काश्मीर सरकार से उन्होंने मांग की कि ऐसा काम करने वाले उस समय के मुख्यमंत्री, सभी मंत्रियों के विरुद्ध, वहां रहने वाले सभी मुसलमानों के विरुद्ध षडयंत्र का मामला दर्ज किया जाए। देश के लाखों गांवों में, अहमदाबाद के दरियापुर, कालूपुर, वडोदरा के वाडी, भोपाल, जयपुर, मालेगांव में लाखों हिन्दुओं के घर -संपत्ति छीनकर पलायन करवाने वाले मुसलमानों को षडयंत्र का मामला दर्ज किया जाए।

उन्होंने प्रश्न करते हुए कहा कि क्या गालियां देने के लिए हिन्दू ही दिखता है? सबसे बड़ा षडयंत्रकारी बाबर था, सबसे बड़े षडयंत्रकारी तीस हजार मंदिर तोड़कर इन मंदिरों पर मस्जिद का कब्जा करने वाले, काश्मीर में चार लाख हिन्दुओं को मारकर भगाने वाले, लाखों गांवों में हिन्दुओं की संपत्ति छीनने वाले थे लेकिन क्या वह मुसलमान हैं इसलिए नाम लेने का साहस नहीं है? उन्होंने कहा कि बहुत हो गया, हिन्दुओं को गालियां देकर षडयंकारी कहने की फैशन बहुत हो गई।

उन्होंने कहा कि मांग पूरी ना होने पर तीस हजार मंदिरों पर मस्जिद बनी है, वह प्रत्येक स्थान हिन्दुओं की नजरों में आज भी षडयंत्र का केंद्र है, हिन्दुओं को सभी लोकतांत्रिक रास्ते से अपने विरुद्ध षडयंत्र का उत्तर देने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। बहुत हुआ है हिन्दुओं को अपमान करने का काम, बहुत हुआ है इसलिए हिन्दुओं का अपमान करके षडयंत्रकारी सिद्ध करने का कृत्य कम से कम भारत में तत्काल बंद होना चाहिए।


कानून बनाकर राम जन्मभूमि मंदिर का निर्माण शुरू करवाया जाए


उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के उच्च न्यायालय के निर्णय के विरुद्ध केंद्र सरकार के अधीन सीबीआई हिन्दू नेताओं को षडयंत्रकारी सिद्ध करने के लिए सर्वोच्च न्यायालय चली गई। उन्होंने मांग की है कि इस सीबीआई को केंद्र सरकार आदेश देकर तुरंत सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर स्टे दिलवाए, बड़ी खंडपीठ में सीबीआई अपील करवाकर हिन्दुओं को षडयंत्रकारी सिद्ध करनेे के निर्णय को बदले। उन्होंन कहा कि सीबीआई की ओर से हिन्दुओं को षडयंत्रकारी सिद्ध करने का उत्तर होगा कि केंद्र सरकार की ओर से तुरंत संसद में कानून बनाकर राम जन्मभूमि मंदिर का निर्माण तुरंत शुरू करवाया जाए।

Web Title "CBI challenging order "