भारत माता की जय के साथ निकाली तिरंगा यात्रा

By: Sandeep Pandey

Updated On:
24 Aug 2019, 12:37:59 PM IST

  • मौलासर. जय श्रीराम, वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारों के साथ मौलासर कस्बे में भव्य तिरंगा यात्रा निकाली गई। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की ओर से आयोजित भारत माता पूजन एवं तिरंगा यात्रा में सैकड़ों की संख्या में लोगों ने भाग लिया।

मौलासर. जय श्रीराम, वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारों के साथ मौलासर कस्बे में भव्य तिरंगा यात्रा निकाली गई। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की ओर से आयोजित भारत माता पूजन एवं तिरंगा यात्रा में सैकड़ों की संख्या में लोगों ने भाग लिया।
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के पदाधिकारियों ने एक किलोमीटर की दूरी में तिरंगा यात्रा निकालने का दावा किया है जो अब तक की कस्बे की सबसे बड़ी तिरंगा यात्रा कही जा रही है। तिरंगा यात्रा कार्यक्रम के संयोजक नवीन जोशी के अनुसार कस्बे की मनोहरदास बगीची से तिरंगा यात्रा निकाली गई जो धनकोली मार्ग, मुख्य बस स्टैंड, पुलिस थाना रोड से सेंट्रल बैंक वाली गली से होते हुए गंवाई चौक स्थित लक्ष्मीनारायण भगवान मंदिर पहुंची जहां इसका समापन किया गया। इस दौरान लोगों ने पूरे जोश के साथ देशभक्ति नारे लगाए।

तिरंगा यात्रा को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने कस्बे में सुरक्षा के लिए जगह-जगह पुलिसकर्मी तैनात किए गए। गर्मी व धूप को देखते हुए नगरवासियों ने जगह-जगह शीतल जल की व्यवस्था थी। यात्रा समापन के बाद भारत माता पूजन कार्यक्रम के तहत भारत माता की आरती की गई और प्रसाद वितरण किया गया। तिरंगा यात्रा में कस्बे के बी.आर.मिर्धा स्कूल, मेक्सवेल इंंिग्लश स्कूल, श्रीबालाजी क्लासेज, गुरुकुल महाविद्यालय सहित अधिकांश शिक्षण संस्थाओं के विद्यार्थियों एवं कस्बे के सभी सामाजिक संगठनों के लोगों ने अपनी भागीदारी निभाई।
इस दौरान भारत माता पूजन कार्यक्रम के मुख्य वक्ता एवं रास्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के जिला प्रचारक महावीरप्रसाद ने कहा कि अपना राष्ट्र विश्व में अलग पहचान वाला देश है। विश्व के अन्य देश अपने देश को केवल एक भू-भाग मानते है जबकी अपन इस देश को अपनी मां के रूप में मानते है और भारत माता के रूप में पूजते है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान राष्ट्र की परिस्थितियों को देखते हुए राष्ट्रहित के लिए हर भारतवासी को जागना होगा। सामाजिक भेदभाव मीटाकर सब में समरसता का भाव जाग्रत करना होगा ताकी अपनी भारत माता अखण्ड होकर पुन: विश्वगुरु के रूप में विश्व के सिंघासन पर आरूठ हो सके।
इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के खंड प्रचारक दलपतसिंह, विश्व हिन्दू परिषद के जिलाध्यक्ष महावीर चतुर्वेदी, शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) के जिलाध्यक्ष राजेन्द्र दाधीच, संघ के बिकानेर विभाग के प्रोढ़ प्रमुख सवाईदान चारण सहित चेनाराम बलारा, भूराराम कूदणा, सुरेश भार्गव, पिन्टू भार्गव, नटवरलाल बारूपाल, पृथ्वी चाहर, श्यामलाल भार्गव, चैनाराम मिस्त्री, बाबूलाल रणवां, सुधीर पण्डित, चुन्नीलाल बलारा, निर्मल शर्मा आदि उपस्थित रहें।

सफल रही तिरंगा यात्रा
समाजसेवी खेताराम बलारा ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की ओर से निकाली गई तिरंगा यात्रा को एक सफल और ऐतिहासिक यात्रा बताया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ एक राष्ट्रवादी विचारधारा का संगठन है जो देश के लिए कार्य कर रहा है। मौलासर के हर समाज व संगठन के लोग यात्रा में शामिल होकर यह साबित कर दिया की राष्ट्रीय मुद्दे पर हम सब एक है। फीट लम्बा तीन रंग का तिरंगा विशेष आकर्षण का केन्द्र रहा। इस तिरंगे को स्कूलों के बच्चें हाथों में लेकर यात्रा के दौरान वंदे मातरम, भारत माता की जय आदि गगनभेदी नारे लगाते हुए चल रहे थे। आयोजकों एक कस्बेवासियों का मामना है कि मौलासर कस्बे की यह पहली यात्रा है जिसमें 111 फीट लम्बा तिरंगा हाथों में लेकर यात्रा निकाली हो।

Updated On:
24 Aug 2019, 12:37:59 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।