नागौर जिले की बिजली छीजत 18.90 प्रतिशत तक लाने का लक्ष्य

By: shyam choudhary

|

Updated: 17 Jun 2021, 08:53 PM IST

Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

नागौर. नागौर में बिजली चोरी रोकने, छीजत कम करने व राजस्व वसूली को बढ़ाने को लेकर गुरुवार को अजमेर डिस्कॉम के प्रबंध निदेशक वीएस भाटी ने जिले के डिस्कॉम अधिकारियों की बैठक ली।
प्रबंध निदेशक भाटी द्वारा ली गई नागौर सर्किल की रिव्यू बैठक में सभी अधिशासी अभियंताओं एवं अधीक्षण अभियंता ने भाग लिया। बैठक की शुरुआत में प्रबंध निदेशक ने कोरोना के कारण हुई 4 कर्मचारियों की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया तथा उनके भुगतान और अनुकंपा नियुक्ति की प्रक्रिया शीघ्र पूरी करने के लिए निर्देश दिए। इसके बाद एमडी भाटी ने राजस्व वसूली, टी एंड डी लोसेस, सतर्कता जांच, खराब मीटर बदलना, ट्रांसफॉर्मर लोड बैलेंसिंग, नए कनेक्शन जारी करने, हाई रिस्क पॉइंट अटेंड करने, जले हुए ट्रांसफार्मर समय पर बदलने के सम्बन्ध में दिशा-निर्देश दिए। बैठक में अजमेर जोन मुख्य अभियंता मुरारीलाल मीणा और अधीक्षण अभियंता आरबी सिंह ने भी अपने विचार व्यक्त किए। अंत में टीम नागौर ने एमडी को विश्वास दिलाया कि इस साल के टी एंड डी लोसेस का लक्ष्य 18.90 प्रतिशत एवं राजस्व वसूली का लक्ष्य 105 प्रतिशत हर हाल में पूरा किया जाएगा।

डिस्कॉम ने 381 स्थानों पर पकड़ी बिजली चोरी
लॉकडाउन में छूट मिलते ही डिस्कॉम ने एक बार फिर बिजली चोरों के खिलाफ अभियान शुरू कर दिया है। मंगलवार को जिले में अजमेर डिस्कॉम एमडी के निर्देशन में अलग-अलग टीमों ने कार्रवाई करते हुए 381 स्थानों पर बिजली चोरी पकडकऱ लाखों रुपए का जुर्माना लगाया।
नागौर एसई आरबी सिंह के अनुसार नागौर वृत्त में अजमेर डिस्कॉम प्रबन्ध निदेशक वी.एस. भाटी ने विद्युत चोरों के खिलाफ चोरी पकडऩे का सघन अभियान चलाने के निर्देश दिए, जिसकी पालना में मंगलवार को स्वयं एमडी भाटी, एवं मुय अभियन्ता एम.एल. मीणा के नेतृत्व में मेड़ता खण्ड में 3 अवैध ट्रान्सफार्मर जब्त किए गए एवं अवैध लाइन को भी गिराया गया।
कार्रवाई के दौरान गांव नोखा चान्दावता में सुरेन्द्र पुत्र भगवानराम जाखड़ के खेत में एक पिकअप वाहन में ट्रांसफार्मर रखकर विद्युत चोरी की जा रही थी, जब डिस्कॉम टीम मौके पर पहुंची तो आरोपी पिकअप को मौके से भगाने की कोशिश करने लगा, लेकिन विभाग के कर्मचारियों एवं पुलिस की मदद से पिकअप और ट्रांसफार्मर जब्त कर लिया गया। एसई ने बताया कि सभी अधिशासी अभियंता, सहायक अभियंता व कनिष्ठ अभियंता द्वारा सघन सर्तकता जांच की गई, जिसमें कुल 381 उपभोक्ताओं एवं गैर उपभोक्ताओं के यहां विद्युत चोरी पकड़ी गई। सांजू उपखण्ड में एक, खींवसर उपखण्ड में 6, मेड़ता ग्रामीण उपखण्ड में 3 एवं मूण्डवा उपखण्ड में 4 मिलाकर कुल 14 अवैध रूप से लगाए गए ट्रांसफार्मर जब्त किए गए। साथ ही 71.65 लाख का जुर्माना लगाया गया है। भविष्य में उपभोक्ताओं द्वारा जुर्माना राशि तय समय में जमा नहीं करवाने पर एफ.आई.आर. दर्ज करवाई जाएगी। नागौर वृत्त में बढ़ती हुई छीजत को मध्यनजर रखते हुए यह अभियान आगे भी जारी रहेगा।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।