चारागाह भूमि पर बने पक्के अतिक्रमण ध्वस्त, अतिक्रमियों ने पुलिस पर किया दो बार पथराव, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

By: Shyam Lal Choudhary

Updated On:
25 Aug 2019, 04:07:09 PM IST

  • Trespassers threw stones at police, police lathi-charged हाईकोर्ट के निर्देश पर जिला प्रशासन ने की कार्रवाई, कार्रवाई के दौरान एक जेसीबी चालक पर हमला, अस्पताल में उपचार के दौरात मौत, मृतक के परिजन शव लेकर बैठे, हाईवे रोका, तीन घंटे से कलक्टर व एसपी कर रहे परिजनों से समझाइश
    - प्रशासन की कार्रवाई पर उठे सवाल, सैकड़ों पुलिसकर्मियों के जाब्ते के बावजूद कैसे हुआ हमला, नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल का बयान - प्रशासन व पुलिस की नाकामी से सैकड़ों लोग हो गए बेघर, एक घर का चिराग बुझा
    - लाठीचार्ज के दौरान कई लोगों को लगी चोटें, घर टूटने से महिलाओं का रो-रोकर बुरा हाल, बच्चे, महिलाएं बिलखने लगे

     

Trespassers threw stones at police, police lathi-charged नागौर. नागौर जिला प्रशासन ने पुलिस के भारी जाब्ते के साथ रविवार सुबह 7 बजे शहर के निकटवर्ती ताऊसर ग्राम पंचायत की 6-7 बीघा चारागाह भूमि पर बसे कमजोर वर्ग बंजारा, घुमन्तु पिछड़ी जाति के लोगों के मकान सहित अन्य अतिक्रमण तोडऩे की कार्रवाई शुरू की। करीब एक घंटे तक कार्रवाई चलने के बाद रालोपा विधायक पुखराज गर्ग व इंदिरा बावरी मौके पर पहुंचे तथा अधिकारियों से बात करने लगे। विधायकों का कहना था कि पिछड़ी व कमजोर वर्ग को लोगों को बेघर करने से पहले उनको दूसरे स्थान पर बसाने की व्यवस्था प्रशासन व सरकार को करनी चाहिए।

इस पर मौके पर मौजूद नागौर एडीएम मनोज कुमार, एएसपी सरजीसिंह मीणा, नागौर एसडीएम सहित अन्य अधिकारियों ने कहा कि वे हाईकोर्ट के आदेशों की पालना कर रहे हैं। ऐसे में कार्रवाई जारी रहेगी। अधिकारियों के रवैये से नाराज बंजारा समाज के लोगों ने आक्रोशित होकर पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। करीब दस मिनट तक चले पथराव के दौरान एक बार पुलिस मैदान छोड़ती नजर आई, लेकिन बाद में बंजारा समाज के लोग पीछे हट गए और पुलिस ने लाठीचार्ज करते हुए वापस पथराव किया। इस दौरान पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी। पुलिस ने मेड़ता विधायक बावरी के साथ आए एक व्यक्ति को नीचे पटककर मारपीट की। जिसके बाद विधायक बावरी ने रोष जताते हुए पुलिस अधिकारियों को फटकार लगाई।

हमले में एक की मौत
पथराव की घटना के दौरान दोनों तरफ से कुछ लोग घायल हुए, जिन्हें उपचार के लिए जेएलएन अस्पताल ले जाया गया। इसी दौरान दूसरे ब्लॉक में अतिक्रमण तोड़ रहे एक जेसीबी चालक पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया, जिससे बचने के लिए जेसीबी चालक फारूक भागने लगा तो पीछे से किसी ने पिकअप दौड़ाकर उस पर चढ़ा दी, जिससे वह गंभीर घायल हो गया। घटना के बाद फारूख को जेएलएन अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बावजूद पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारी फारूख के शव को जोधपुर रेफर करने लगे, जिस पर परिजन आक्रोशित हो गए तथा अधिकारियों को खरी-खोटी सुनाते हुए कहा कि पहले तो उनके आदमी को मार दिया और अब शव के साथ मजाक किया जा रहा है। परिजनों के गुस्से को देखकर अधिकारी शव को मोर्चरी में रखवाने को तैयार हुए।

रालोपा विधायकों ने कार्रवाई को बताया गलत
भोपालगढ़ विधायक मेड़ता विधायक इंदिरा बावरी के साथ पहुंचेे लोगों पर भी पुुुुलिस ने लाठीचार्ज किया। मौके पर हालातों तनावपूर्ण बने हुए हैं, वहीं पुलिस प्रशासन अभी भी अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई जारी रखे हुए हैं। मौके पर पहुंचे भोपालगढ़़ के विधायक पुखराज गर्ग व मेड़ता विधायक इंदिरा देवी बावरी ने प्रशासन की कार्रवाई को गलत बताया है और कहा कि प्रशासन गरीबों के घरोंदे उजाड़ रहा है। इन लोगों के पुनर्वास की व्यवस्था करनी चाहिए, साथ ही मांग की हैै कि मकान टूटने वाले गरीबों को मुआवजा मिलना चाहिए। दोनोंं विधायकों ने आरोप लगाया कि प्रशासन ने कार्रवाई के दौरान उनके साथ आए लोगों के साथ भी मारपीट की।

Updated On:
25 Aug 2019, 04:07:09 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।