अगर बंद हो गई है आपकी पॉलिसी, पीपीएफ खाता, सुकन्या समृद्धि जैसी स्कीम्स तो बिना झंझट ऐसे दोबारा करें शुरु

By: Manish Ranjan

Updated On:
11 Feb 2019, 05:32:54 PM IST

  • आपको ऐसे तरीके बता रहे हैं जिससे आप अपने बंद पड़े खाते या स्कीम को आसानी से दोबारा शुरु कर सकते हैं।

नई दिल्ली। अगर आपने कोई पॉलिसी करा रखी है, या पीपीएफ खाता खुलवा रखा है या फिर अपनी बेटी के लिए सुकन्या समृद्धि योजना जैसी स्कीम ले रखी है। लेकिन किसी कारणवश वो बंद हो गया है। तो घबराने की जरुरत नहीं है। हम आपको ऐसे तरीके बता रहे हैं जिससे आप अपने बंद पड़े खाते या स्कीम को आसानी से दोबारा शुरु कर सकते हैं।

ऐसे दोबारा शुरु करें अपना पीपीएफ खाता - अगर आपने कोई पीपीएफ खाता खुलवाया था लेकिन अब वो बंद हो चुका है तो आप उसे दोबारा शुरु करवा सकते हैं। इसके लिए आपको जिस जगह आपका पीपीएफ खाता है, उसकी किसी ब्रांच में जाएं। वहां प्रत्येक साल के हिसाब से कम से कम 500 रुपये दें साथ ही हर साल के हिसाब से 50 रुपये जुर्माना भी देना होगा। ऐसा करने पर आपका खाता दोबारा चालू हो जाएगा।

ऐसे शुरु करें सुकन्या समृद्धि योजना - अगर आपने इस खाते में साल में कम से कम 1 हजार रुपये जमा नहीं किए गए तो खाता बंद होगा इसे शुरु करने के लिए आपको पास के पोस्ट ऑफिस या बैंक में जाना होगा। वहां जाकर बकाया जमा कीजिए, नॉन पेमेंट वाले कुल सालों के हिसाब से प्रत्येक के लिए कम से कम एक हजार रुपये दें हर साल के हिसाब से 50 रुपये जुर्माना भी देना होगा। इसके बाद आपका खाता दोबारा शुरु हो जाएगा।

बंद पड़ी पॉलिसी को ऐसे करें चालू - सालाना प्रीमियम नहीं भरने के स्थिति में आपकी बीमा पॉलिसी अगर बंद हो गई है तो इसके लिए ब्रांच ऑफिस या अपने एजेंट से बात करें। आपको इसे शुरु करवाने के लिए बचे हुए सारे प्रीमियम भरने होंगे, लेट पेमेंट और अन्य जुर्माने भी देने पड़ेंगे पहले अनपेड प्रीमियम के 6 महीने के अंदर अगर पॉलिसी शुरू कर ली जाती है तो हेल्थ सर्टिफिकेट नहीं देना होगा। इससे ज्यादा वक्त होने पर जरूरत पड़ेगी

 

Updated On:
11 Feb 2019, 05:32:54 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।