सत्र समाप्त होने के बाद भी 500 छात्राओं को नहीं मिला सरस्वती साइकिल योजना का लाभ

By: Brijesh Kumar Yadav

Updated On: 18 Apr 2019, 11:28:11 AM IST

  • कक्षा 9वीं की परीक्षा समाप्त हो गई है, लेकिन शत-प्रतिशत छात्राओं को सरस्वती सायकल योजना के तहत साइकिल नहीं मिल पायी है।

तखतपुर. कक्षा 9वीं की परीक्षा समाप्त हो गई है, लेकिन शत-प्रतिशत छात्राओं को सरस्वती सायकल योजना के तहत साइकिल नहीं मिल पायी है। योजना के तहत तखतपुर विकासखण्ड अन्तर्गत 2018-19 में 1146 छात्राओं को लाभान्वित किया जाना था। परन्तु शिक्षण सत्र समाप्त होने के बाद भी इसमें से 500 छात्राओं को योजना का लाभ नहीं मिल पाया है। शिक्षा विभाग के अधिकारी लापरवाही को छुपाने के लिए आचार संहिता का हावाल दे रहे हैं।
शिक्षा विभाग में योजनाओं का समय पर क्रियान्वयन नहीं हो पा रहा है। ना तो सरस्वती योजना के तहत छात्राओं को सायकल समय पर मिल पाता है और ना ही पाठ्य पुस्तक। ज्ञात हो कि कक्षा 9वीं में पढने वाली छात्राओं को सरस्वती योजना के तहत साइकल दिया जाता है। क्योकि अनेक गांवों में 8वीं के बाद स्कूल नहीं रहता, जिसके चलते दूर गांव व शहर छात्राओं को पढाई के लिए जाना होता है। आने जाने में समय व्यर्थ न जाए व समस्या न हो इसी उद्देश्य से सायकल प्रदान किया जाता है। सत्र के प्रारंभ होने पर ही वितरण किया जाना होता है ताकि छात्राएं साल भर उक्त सायकल से ही स्कूल आना जाना कर सके। परन्तु सत्र समाप्त हो जाने के बाउजूद छात्राओं को सायकल नहीं मिली और वे पैदल ही जाकर पढाई पूरी कर ली है।
दिया था आश्वासन।
शिक्षा विभाग के अधिकारियो ने छात्राओं को वार्षिक परीक्षा प्रारंभ होने से पहले सायकल वितरण करने का आश्वासन दिया था। जो पूरा नहीं हो सका है। अब वे अपनी नाकामी को छुपाने के लिए आचार संहिता का हवाला दे रहे हैं। उनका कहना है कि आचार संहिता के दौरान किसी योजना का लाभ दिलाना प्रतिबंधित होता है।
&तखतपुर विकासखण्ड अन्तर्गत पहले 60 प्रतिशत सायकल आया था, जिसका वितरण कर दिया गया है। वर्तमान में 40 प्रतिशत सायकल प्राप्त हुआ है, परन्तु आचार संहिता के चलते वितरण नहीं किया जा सका है। सायकल भेजना विभाग का काम है। विभाग द्वारा प्राप्त होते ही सायकल छात्राओं को वितरण करते हंै।
आर के अंचल बीईओ

Updated On:
18 Apr 2019, 11:28:10 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।