​​​शिवसेना ने केंद्र सरकार पर किया तीखा वार,नोटबंदी को बताया दुर्भाग्‍यपूर्ण

By: Prateek Saini

Published On:
Sep, 05 2018 07:42 PM IST

  • नोटबंदी को लेकर केंद्र सरकार की मुसीबतें और बढती नजर आ रही है...

(मुंबई): नोटबंदी को लेकर सियासी रस्साकस्सी जारी है। विपक्ष लागातर इस मुद्ये पर केंद्र सरकार को घेर रहा है वहीं इस मामले में सरकार की मुसीबतें और बढती नजर आ रही है क्योंकि जिस फैसले को मोदी सरकार देशहित में बता रही है उनके सहयोगी भी उसके विरोध में खडे हो गए है। इसी क्रम मेें बीजेपी की पुरानी सहयोगी पार्टी शिवसेना ने नोटबंदी को यह कहकर कटघरे में लाकर खडा कर दिया है कि यह फैसला दुर्भाग्यपूर्ण था।


नोटबंदी के कारण हुई मौतों का कौन जिम्मेदार

शिवसेना ने नोट बंदी को लेकर एक बार फिर भाजपा पर तीखे वार किए। शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे ने नोट बंदी को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए इस निर्णय को सरकार की बड़ी गलती करार दिया। उन्‍होंने डालर के मुकाबले रुपए में गिरावट और आरबीआई की गतिविधियों की भी आलोचना की। ठाकरे ने कहा कि नोट बंदी को लेकर हुई मौतों का जिम्मेदार कौन है, यह सरकार को स्पष्ट करना चाहिए।


अर्थव्यवस्था वेंटिलेटर पर

उन्होंने कहा कि ऐसा प्रतीत हो रहा है कि देश की अर्थ व्यवस्था अब वेंटिलेटर पर है। उन्‍होंने बीजेपी प्रवक्ता राम कदम की महिलाओं के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी पर कहा कि राम कदम का सभी को मिलकर विरोध करना चाहिए। उन्हें भाजपा समेत कोई भी पार्टी चुनाव के लिए टिकट न दे।

 

जाना हार्दिक का हाल

महिला सुरक्षा के मुद्ये पर जोर देते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि हम किसी भी कीमत पर माताओं-बहनों का अपमान नहीं सहेंगे। इसी के साथ उन्होंने राज्य के सीएम देवेंद्र फडनवीस के लिए कहा कि सीएम को ऐसे मामलों के आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। उन्‍होंने हार्दिक पटेल के लिए कहा कि मैंने उन्हें फोन कर भूख हड़ताल को खत्म करने को कहा।

यह भी पढे:जम्मू-कश्मीर: अनुच्छेद 35 A पर फिर सियासत, नेशनल कॉन्फ्रेंस ने पंचायत चुनावों का किया बहिष्कार

Published On:
Sep, 05 2018 07:42 PM IST