Coronavirus के नए रूप का खौफ, अब नई वैक्‍सीन बनाने में जुटे ऑक्‍सफोर्ड वैज्ञानिक

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( coronavirus New Strain )महामारी ने देश और दुनिया की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। इससे निपटने के लिए दिन-रात मेहनत के बाद वैज्ञानिकों ने वैक्सीन तैयार की। भारत समेत दुनिया के कई देशों में टीकाकरण अभियान भी शुरू हो गया है। लेकिन इस बीच कोरोना वायरस के नए रूप ने हर किसी की चिंता बढ़ा दी है।

दुनिया में एक बार फिर कोरोना वायरस का खतरा बढ़ने की आशंका उत्पन्न हो गई है। यही वजह है कि वैज्ञानिक इस नए खतरे से निपटने के लिए नई वैक्सीन बनाने में जुट गए हैं। ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University) और एस्‍ट्रेजेनेका के वैज्ञानिक संयुक्‍त रूप से इन नए स्‍ट्रेन से निपटने के लिए भी वैक्‍सीन तैयार करने में जुट गए हैं।

व्हाइट हाउस से जाते-जाते मेलानिया ट्रंप कर गईं कुछ ऐसा, अब हो रही हर तरफ आलोचना, जानिए क्या है पूरा मामला

दुनिया में कोरोना वायरस (Corona Vaccine) के नए रूप या स्‍ट्रेन का खतरा मंडरा रहा है। ब्रिटेन, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका में इस नए रूप के सामने आने के बाद कई देशों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्‍ट्रेजेनेका कोरोना वायरस के नए रूप से निपटने के लिए कारगर वैक्‍सीन बनाने के क्रम में अपनी तकनीक को नए सिरे से तैयार करने के लिए शोध में जुटे हैं।

दरअसल वैज्ञानिक इस तैयारी में जुटे हैं कि जल्द से जल्द इस खतरे के बढ़ने से पहले नई वैक्सीन तैयार कर लें। इसके लिए अपने chAdOx वैक्‍सीन प्‍लेटफॉर्म को नए सिरे से तैयार कर रहे हैं।

नए रूप के प्रभाव का हो रहा आंकलन
दरअसल ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों की ओर से कहा गया है कि फिलहाल कोरोना के नए रूप के इम्युनिटी को प्रभावित करने वाले रूप का आंकलन किया जा रहा है। सावधानी पूर्वक ही ऐसी वैक्सीन तैयार की जाएगी जो आने वाले खतरों से भी रक्षा करने में कारगर हो।

ब्रिटेन पीएम बोले तैयार एजेंसियां
एक तरफ ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक खतरे से निपटने के लिए वैक्सीन की तैयारी में जुटे हैं, वहीं दूसरी तरफ ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी अपने एक बयान में ये कह चुके हैं कि देश की दवा नियामक एजेंसियां पूरी तरह तैयार हैं।

देश में कोरोना वैक्सीनेशन ने पकड़ी रफ्तार, जानिए अब तक कितने लोगों में दिखे साइड इफेक्ट

उम्मीद है जल्द हम नई और कारगर वैक्सीन तैयार करने में कामयाब होंगे। आपको बता दें कि दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक कुल 9.73 लाख से अधिक मामले सामने आ चुके हैं. वहीं 20.83 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।