इजरायल की ईरान को धमकी, यह इस्लामिक क्रांति की आखिरी वर्षगांठ होगी

By: Mohit Saxena

Updated On: Feb, 12 2019 02:16 PM IST

  • प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक वीडियो संदेश में नेतन्याहू ने अपने देश के विरोधी को गंभीर चेतावनी दी

यरुशलम। इस्लामिक क्रांति को लेकर ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी के बयानों पर तीखी प्रतिक्रियाएं आने लगी हैं। इस पर पहली प्रतिक्रिया इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू की ओर से आई है। नेतन्याहू ने चेतावनी देते हुए कहा कि यादि ईरान ने उनके देश पर हमला किया तो यह आखिरी बार होगा, जब वह अपनी इस्लामिक क्रांति की सालगिरह मनाएगा। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक वीडियो संदेश में नेतन्याहू ने अपने देश के विरोधी को गंभीर चेतावनी दी और कहा कि इजरायल किसी भी हमले का जवाब दे सकता है।

तल्ख रिश्तों का इतिहास रहा है

नेतन्याहू ने ईरान को चेतावनी भरे अंदाज में कहा कि वे ईरानी सरकार की धमकियों को नजरअंदाज नहीं करते, लेकिन उनसे डरा हुआ भी नहीं हूं। यह बयान ऐसे समय में जारी किया गया जब ईरान अपनी इस्लामिक क्रांति की 40वीं वर्षगांठ मनाई है। यह एक से 11 फरवरी तक मनाई जाती है। ईरान और इजरायल के बीच तल्ख रिश्तों का इतिहास रहा है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.

तेल अवीव और हाइफ़ा को तबाह कर देंगे

इजरायली के प्रधानमंत्री ने कहा कि वह ईरान के हमले नहीं सहनेवाले। उन्होंने कहा कि अगर इस शासन ने तेल अवीव और हाइफ़ा को तबाह करने की अगर गलती की तो वह सफल नहीं होगा। नेतन्याहू ने अपने देश के घोर विरोधी को चेतावनी देते हुए कहा कि यह उनके द्वारा मनाई गई क्रांति की आखिरी वर्षगांठ होगी। उन्हें इस बात का ध्यान रखना चाहिए।

Published On:
Feb, 12 2019 02:11 PM IST

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।