हिदायत: विमान हादसे के बाद विमान निर्माता कंपनी ने बोइंग-777 की सभी उड़ानों पर रोक लगाने को कहा

नई दिल्ली।

विमान बनाने वाली अमरीकी कंपनी बोइंग ने दुनियाभर की तमाम एयरलाइंस को आगाह किया है कि वे बोइंग 777 विमानों को उड़ान पर नहीं भेजें। विमान कंपनी की ओर से यह हिदायत गत शनिवार को एक यात्री विमान के आंशिक रूप से दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद दी गई है। इस विमान में 231 यात्री सवार थे और उड़ान के कुछ देर बाद अमरीका के डेनवर के एयरपोर्ट पर वापस लौटना पड़ा। अभी तक ऐसी कोई जानकारी सामने नहीं आई कि इस दुर्घटना में कितने लोग घायल हुए।

बहरहाल, कंपनी की हिदायत के बाद यूनाइटेड एयरलाइंस और जापान की दो प्रमुख एयरलाइंस ने अपने ऐसे 62 विमानों का इस्तेमाल करना बंद कर दिया है। वहीं, कोरियन एयर ने भी बताया है कि वह अपने ऐसे 6 विमानों की उड़ान पर रोक लगा रहा है।

बोइंग कंपनी के अनुसार, ऐसे 128 विमान हैं, जिनमें शनिवार को हुए हादसे वाले विमान जैसा इंजन लगा है। इन सभी का इस्तेमाल रोकना जरूरी है। कंपनी का कहना है कि वह जांच कर रहा है और इसके पूरी होने के बाद ही स्पष्ट रूप से कुछ बता पाएगी। कंपनी के अनुसार, हमने प्रैट एंड व्हिटनी 4000-112 इंजनों के 69 इस्तेमाल हो रहे और 59 स्टोर में रखे विमानों के परिचालन को रोकने की सिफारिश कर दी है।

प्रैट एंड व्हिटनी के मुताबिक, हमने जांचकर्ताओं के साथ काम करने के लिए एक टीम मौके पर भेजी है। वहीं, फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन का कहना है कि अमरीका में सिर्फ यूनाइटेड एयरलाइंस ही इसका इस्तेमाल कर रही है। इसके अलावा, जापान और साऊथ कोरिया की एयरलाइंस इसका इस्तेमाल कर रही थी।

बता दें कि डेनवर एयरपोर्ट से होनोलूलु जाने के लिए उड़ी यूनाइटेड फ्लाइट संख्या 328 के दायें इंजन में खराबी सामने आई, जिसके बाद विमान को डेनवर एयरपोर्ट पर वापस लौटना पड़ा। विमान का मलबा पास के रिहाइश क्षेत्र में बिखरा था।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।