ट्रंप ने वाइट हाउस के दो अधिकारियों को निकाला, महाभियोग में उनके खिलाफ दी थी गवाही

वाशिंगटन। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( Donald Trump ) 2 हफ्तों के ट्रायल के बाद महाभियोग ( Trump impeachment ) की कार्रवाई में सभी आरोपों से बरी हो गए हैं। हालांकि, जीत के बावजूद उनके खिलाफ जांच जारी रहेगी। इसी बीच खबर आ रही है कि ट्रंप ने महाभियोग की कार्रवाई में अपने खिलाफ गवाही देने वाले वाइट हाउस ( White House ) दो अफसरों को बाहर निकाल दिया है।

तीन दिन पहले ही बरी हुए ट्रंप ने लिया बड़ा फैसला

इन दोनों अफसरों ने महाभियोग की कार्रवाई के दौरान प्रतिनिधि सभा में संसदीय समिति के सामने अपनी गवाही दर्ज कराई थी। अब सीनेट से तीन दिन पहले ही बरी हुए ट्रंप ने इन अफसरों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। वाइट हाउस से निष्काषित हुए दोनों अधिकारियों से एक गोर्डन सोंडलैंड यूरोपीय संघ में अमरीका के राजदूत हैं और दूसरे एलेक्जेंडर विंडमैन वाइट हाउस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद पर यूक्रेन मामलों के विशेषज्ञ लेफ्टिनेंट कर्नल हैं।

महाभियोग की प्रक्रिया में ट्रंप की जीत, अमरीकी सीनेट ने सभी आरोपों से किया बरी

दोनों अधिकारी महाभियोग प्रक्रिया में थे मुख्य गवाह

प्रतिनिधि सभा में महाभियोग की सुनवाई के दौरान ये दोनों अधिकारी मुख्य गवाह थे। निष्काषित किए जाने के बाद सोंडलैंड ने एक बयान भी जारी किया है। उन्होंने कहा,'मुझे जानकारी मिली है कि राष्ट्रपति EU में बतौर अमरीकी राजदूत मुझे तुरंत वापस बुलाना चाहते हैं।'

अमरीका ने चार अफ्रीकी देश समेत 6 देशों के नागरिकों पर यात्रा प्रतिबंध लगाया

वाइट हाउस ने नहीं जारी किया कोई बयान

वहीं, विंडमैन के वकील ने कहा कि लेफ्टिनेंट कर्नल को सच बोलने की कीमत चुकानी पड़ी है। उन्होंने आगे कहा, 'किसी अमरीकी नागरिक को इसपर जरा सा भी शक नहीं होगा कि इस इंसान को क्यों हटाया गया है और क्यों वाइट हाउस में सेवा दे रहा एक सैनिक और कम हुआ है। अभी तक वाइट हाउस ने महाभियोग मामले से जुड़े दोनों अधिकारियों की बर्खास्तगी पर किसी तरह की टिप्पणी नहीं की है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।