भगोड़ा विजय माल्या इस शख्स की वजह से आएगा भारत, पाकिस्तान से है तगड़ा कनेक्शन

By: Chandra Prakash Chourasia

Published On:
Feb, 05 2019 05:44 PM IST

  • मोदी सरकार 9,000 करोड़ के भगोड़े विजय माल्या का ब्रिटेन से प्रत्यर्पित को मंजूरी मिलने पर बेहद खुश है। लेकिन भारत सरकार और सीबीआई की सफलता की पीछे एक पाकिस्तानी शख्स का हाथ है।

नई दिल्ली। भारतीय बैंकों से 9,000 करोड़ रुपए का कर्ज लेकर भागे भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या के भारत आने का रास्ता कुछ कुछ साफ होता दिख रहा है। ब्रिटिश सरकार ने सोमवार माल्या को भारत प्रत्यर्पित करने को मंजूरी दे दी। ब्रिटेन के गृह मंत्री (होम सेक्रेटरी) साजिद जाविद ने माल्या को प्रत्यर्पित करने के आदेश पर हस्ताक्षर कर भारत सरकार की कोशिशों को बड़ी सफलता दी है। अब माल्या के प्रत्यर्पित का पाकिस्तान कनेक्शन सामने आया है।

पाकिस्तान से आकर ब्रिटेन में बस चलाते थे जाविद के पिता

दरअसल ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जाविद पाकिस्तानी मूल के हैं। वर्षों पहले उनके पिता पाकिस्तान छोड़कर ब्रिटेन आ गए थे। यहां वे बस ड्राइवर के तौर पर नौकरी करते थे। जिसकी वजह से साजिद को ब्रिटेन की नागरिकता मिल गई। साजिद 30 अप्रैल, 2018 को ब्रिटेन की टेरेसा सरकार में होम सेक्रेटरी नियुक्त किया गया था। इससे पहले उन्हें सरकार में कई अहम पदों पर काम करने का अनुभव है।

बैंकिंग छोड़ राजनीति में आए साजिद

साजिद ने 2009 में पहली बार ब्रोम्सग्रोव से कंजरवेटिव पार्टी के टिकट पर सांसद के लिए चुनाव लड़ा था और विजयी हुए। राजनीति में आने पहले साजिद बैंकिंग सेक्टर में काम करते थे। उन्होंने ब्रिटेन के कई बड़े बैंकों में अहम पदों पर अपनी सेवाएं दी हैं। चुनाव लड़ने से ठीक पहले साजिद ड्यूश बैंक के सीनियर एमडी थे और 2009 में इस्तीफा देकर सांसद का चुनाव लड़े। साजिद 2014 से ही ब्रिटेन सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं। बताया जा रहा है कि साजिद जाविद दक्षिण एशिया के पहले ऐसे नेता हैं, जो ब्रिटेन सरकार में इतने अहम पद पर पहुंचे हैं।

Published On:
Feb, 05 2019 05:44 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।