अगर बिजली चोरी कर रहे हैं तो पहले आपको दुलारेगा विभाग आैर फिर...

By: Sanjay Kumar Sharma

Published On:
Sep, 12 2018 01:28 PM IST

  • ऊर्जा मंत्री आैर प्रमुख सचिव ऊर्जा ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए की समीक्षा बैठक

मेरठ। अगर आप कटिया डालकर बिजली से अपना घर रोशन कर रहे हैं तो बिजली विभाग के कर्मचारी और अधिकारी आपके पास आएंगे और आपको दुलारकर और प्यार से कनेक्शन को वैध कराने के लिए कहेंगे। यदि आपने विभाग के इस प्यार और दुलार को अन्यथा में लिया तो आपके खिलाफ फिर कार्रवाई निश्चित है। ऊर्जा मंत्री और प्रमुख सचिव ऊर्जा ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान कहा कि कटिया वाले अवैध कनेक्शनों को वैध करने के लिए उपभोक्ताओं को पहले प्यार से समझाये यदि वे नहीं मानते तो उनके खिलाफ कार्रवाई करें। ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा व अध्यक्ष एवं प्रमुख सचिव (ऊर्जा) आलोक कुमार ने वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से विभागीय समीक्षा की।

यह भी पढ़ेंः सीएम योगी की पसंद के इस आईपीएस ने आते ही दिखाए एेसे तेवर कि एसी में बैठे थानेदारों को आ गया पसीना

48 घंटे में बदले जाएं क्षतिग्रस्त ट्रांसफार्मर

बैठक में निर्देशित किया गया कि शासन के निर्देशानुसार प्रत्येक क्षतिग्रस्त ट्रांसफार्मर 48 घंटे के अन्दर परिवर्तित किया जाना आवश्यक है। ऊर्जा मंत्री द्वारा बैठक में कहा गया कि उपभोक्ता हमारे लिए सर्वोपरि है। हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए कि हम उपभोक्ता से सहानुभूतिपूर्वक करें और उनकी समस्याओं का तत्परता के साथ समाधान करें।

यह भी पढ़ेंः नरेंद्र मोदी सरकार की नर्इ योजना में लाइसेंसी सप्लायर से खरीद सकेंगे घर के लिए बिजली, जानिए इसके बारे में

अवैध कनेक्शन के सम्बन्ध में

ऐसे ग्राम जहां पर अवैध कनेक्शन अधिक है वहां पर पुलिस प्रशासन का सहयोग लेकर वैध कनेक्शन उपभोक्ताओं को उपलब्ध कराए जाए। इस सम्बन्ध में प्रबन्ध निदेशक द्वारा अवगत कराया गया कि अवैध कनेक्शन की सूची रोस्टर के साथ प्रत्येक जनपद के डिस्ट्रिक मजिस्ट्रेट को उपलब्ध कराने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। जिससे कटिया लगाकर बिना मीटर से चल रहे कनेक्शनों पर कार्रवार्इ कर वैध संयोजन निर्गत किए जा सके।

सौभाग्यशाली जनपदों में हो ये सुविधा

बैठक में प्रबन्ध निदेशक द्वारा अवगत कराया गया कि सौभाग्यशाली घोषित किए जाने वाले जनपदों में पोल, मीटर, सर्विस केबिल इत्यादि प्रर्याप्त मात्रा में सामग्री उपलब्ध है। ऐसे ग्राम एवं मजरें जहां पर विद्युत पोल एवं लाइनें के लिए इन्फ्रा इत्यादि का कार्य तीव्र गति से किया जा रहा है। प्रत्येक ग्राम में विद्युत लाइनों का निर्माण अंतिम घर तक किया जाना है। संयोजन निर्गत करने हेतु कार्यदायी संस्थाओं को प्रतिदिन के लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं। बैठक में एनसीआर क्षेत्र को नो ट्रिपिंग जोन बनाने हेतु आवश्यक कार्रवार्इ की समीक्षा की गर्इ।

Published On:
Sep, 12 2018 01:28 PM IST