मुख्यमंत्री योगी ने किया बड़ा खुलासा, बताया क्यों लोगों को हो रही शुगर की बीमारी

By: Rahul Chauhan

Updated On:
12 Sep 2018, 05:58:19 PM IST

  • बागपत में दिल्ली-सहारनपुर हाईवे का भूमि पूजन और शिलान्यास करने लिए पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुगर पर बात की।

बागपत। बागपत में दिल्ली-सहारनपुर हाईवे का भूमि पूजन और शिलान्यास करने लिए पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों के गन्ने से लोगों को शुगर होने की बात कही। साथ ही गन्ने के अलावा अन्य फसलों पर भी ध्यान देने को कहा। लेकिन उनकी इस बात से किसानों ने कार्यक्रम में ठहाके तो लगाये लेकिन इस पर कोई टिप्पणी नहीं की। गौरतलब है कि बागपत में दिल्ली से सहारनपुर हाईवे का 11 सितंबर को शिलान्यास किया गया। जिसमें बागपत से शामली तक के 61 किलोमीटर लंबे फोरलेन हाईवे का निर्माण शुरू हो गया। कार्यक्रम में बोलते हुए मुख्यमंत्री ने किसानों को खूब रिझाने का काम किया और उनको कई नसीहतें भी दीं।

यह भी पढ़ें : मुख्यमंत्री योगी ने कहा, ‘इस सांसद ने बहुत पापड़ बेले हैं’

मुख्यमंत्री का कहना था कि चीनी मिलों के लिए और कार्ययोजना भी बन रही है, लेकिन मेरा यहां के किसानों से ये भी कहना है कि गन्ने के अलावा और भी फसलें बोने की आपको आदत डालनी पड़ेगी। आप इतना गन्ना लगा दे रहे हैं कि बहुत सारे लोगों को शुगर हो जा रहा है। मुख्यमंत्री की इस बात पर कार्यक्रम में मौजूद किसानों और नौजवानों ने जमकर ठहाके लगाये और मुख्यमंत्री की बातों को ध्यान से सुना। उनका कहना था कि मैं आप सबसे अपील करूंगा कि दिल्ली का बाजार आपके लिए इतना अच्छा है कि अगर सब्जी की खेती आप करेगें तो लाभ होगा।

यह भी पढ़ें : केंद्रीय मंत्री ने खोला राज, देश के बाहर इस जगह तय होते हैं चीनी के भाव

आपके लिए गडकरी जी भी नयी चीजें लेकर आ गए हैं कि चीनी मिलों को जितनी चीनी की आवश्यकता होगी उतनी चीनी बनाएंगे और शेष को हम इथेनाॅल में बदलकर किसानों को बेहतर लाभ देने का काम भी करेगें। बहुत अच्छी योजना है, लेकिन इसको लागू करने में अभी एक दो साल लग जाएंगे। मुझे लगता है कि उसके बाद किसानों के जीवन में खुशहाली आएगी।

Updated On:
12 Sep 2018, 05:58:19 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।