सेना में भर्ती के नाम फर्जीवाड़ा आया सामने, छह-छह लाख रुपये में दे दिए युवकों को नियुक्ति पत्र

By: Sanjay Kumar Sharma

Updated On: Apr, 21 2019 12:01 AM IST

  • नियुक्ति पत्र लेकर सैन्य मुख्यालय में पहुंचने पर खुला फर्जीवाड़ा

    सैन्य अफसरों को युवकों ने बतार्इ सारी बात, तब खुला मामला

    पुलिस ने कुख्यात आदेश गुर्जर समेत तीन को गिरफ्तार किया

मेरठ। मथुरा के करीब एक दर्जन युवकों को सेना में भर्ती का काॅल लेटर मिला। उनसे सैन्य मुख्यालय में नौकरी ज्वाइन करने के लिए कहा गया था। युवक जब सैन्य मुख्यालय पहुंचे और वहां पर तैनात अधिकारियों को काॅल लेटर दिखाया तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। सभी युवकों के काॅल लेटर फर्जी थे। सेना के अधिकारियों ने युवकों को वहीं पर बैठा लिया। जब युवकों ने अपनी हकीकत बताई तो सेना अधिकारियों ने उनको छोड़ दिया। मथुरा के युवकों ने सेना में भर्ती कराने के नाम पर छह-छह लाख रूपये लिए गए थे। ये रुपये मेरठ के कुख्यात आदेश गुर्जर ने लिए थे, जो कि सेना में भर्ती के नाम पर फर्जीवाड़ा करता है। वह देश के कई राज्यों में होने वाली सेना भर्ती में सेंधमारी कर चुका है। इस पूरे प्रकरण से कुख्यात आदेश गुर्जर एक बार फिर से मेरठ पुलिस की गिरफ्त में आया है। दरअसल, गंगानगर पुलिस ने एक शिकायत पर कार्रवार्इ करते हुए आदेश को उसके दो साथियों सहित गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से भारी मात्रा में फर्जी दस्तावेज भी बरामद हुए हैं।

यह भी पढ़ेंः बड़ी कार्रवार्इः यूपी के इस शहर में तीन दिन के भीतर बंद होंगे 75 कोठे

यह भी पढ़ेंः स्कूटी बनी आग का गोला, पूर्व फौजी ने इस तरह बचार्इ जान

ये है मामला

दरअसल, मथुरा के लाढ़पुर गांव के निवासी किशन ने गंगानगर थाने में आदेश और उसके साथियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पीड़ित का आरोप था कि सेना में भर्ती कराने के नाम पर आदेश ने उसके साहित उसके गांव के करीब एक दर्जन से अधिक ग्रामीणों से छह-छह लाख की रकम वसूलकर उन्हें फर्जी नियुक्ति पत्र थमा दिया। मामले की पोल तब खुली जब नौकरी के लिए चुने गए युवक सैन्य मुख्यालय में फर्जी नियुक्त पत्र लेकर पहुंच गए। पोल खुलने पर बेकसूर युवकों ने सैन्य अधिकारियों को सच्चाई बताई इसके बाद उनको वहां से निकलने दिया गया। आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आदेश गुर्जर व उसके साथी अंकित और अशोक को गिरफ्तार कर लिया। बताते चलें कि कुख्यात आदेश सेना भर्ती में दलाली के चलते पहले भी कई बार जेल जा चुका है।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

UP Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ा तरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App

Published On:
Apr, 21 2019 12:01 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।