मथुरा में अजन्मे का जन्म, लाखों श्रद्धालु बने साक्षी, आज गोकुल में नंदोत्सव

By: Amit Sharma

Updated On:
25 Aug 2019, 12:10:00 AM IST

  • वैदिक मंत्रों के बीच प्रभु का किया दिव्य महाभिषेक
    कान्हा के जन्म लेते ही घंटा और घड़ियाल की गूंज
    नहीं आए योगी आदित्यनाथ, तैयारियां धरी रह गईं
    शहर में आज भी होगी सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम

मथुरा। बृज की धरती पर अजन्मे का जन्म हुआ। यह अलौकिक क्षण था। देश-विदेश के लाखों श्रद्धालु इसके साक्षी बने। रोहिणी नक्षत्र की वेला में रात्रि के 12 बजते ही जयकार होने लगी। ‘हाथी घोड़ा पालकी- जय कन्हैया लाल की’ और राधे-राधे गूंज होने लगी। श्रीकृष्ण जन्मभूमि परिसर में तिल रखने के लिए भी जगह नहीं बची। जन्मस्थान के भागवत भवन में शाम से ही हजारों लोग जमा थे। 25 अगस्त को गोकुल में नंदोत्सव की धूम रहेगी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कार्यक्रम निरस्त हो गया। इसके चलते तैयारियां धरी रह गईं।

कामधेनु गाय के थन से दूध स्वयं निकलने लगा
श्रीकृष्ण के जन्म लेते ही स्वचालित यंत्रों से कामधेनु गाय के थन से दूध निकलने लगा। इसके बाद दही, घी, बूरा, शहद एवं दूध से रात्रि 12:15 से 12:30 तक ठाकुरजी के श्री विग्रह का दिव्य महाभिषेक किया गया। श्रीकृष्ण जन्मभूमि और श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास तथा जनस्थान के ट्रस्टी अनुराग डालमिया ने भगवान श्रीकृष्ण का महाभिषेक और पूजन किया। इस दौरान वैदिक मंत्र गुंजायमान होते रहे। भक्तगण हाथ जोड़े खड़े रहे। जैसे ही पर्दा हटा, हर कोई अलौकिक दृश्य को अपने नेत्रों में समाने के लिए लालायित हो उठा। इसके साथ ही 12 बजकर पांच मिनट पर समूच ब्रज में घंटे घड़ियाल बजने लगे। शंखनाद भी हुआ। शृंगार आरती के दर्शन हुए। देर रात्रि तक दर्शन को मंदिर खुला रहा। जन्मोत्सव को और भव्य बनाने के लिए महाराष्ट्र से ढोल वादक आए थे। जन्मभूमि परिसर स्थित केशवदेव मंदिर में कई प्रकार के पुष्प, पत्र एवं वस्त्रों से निर्मित भव्य बंगले में प्रभु श्रीकृष्ण विराजमान किए गए। आकर्षक रोशनी के अलावा पुष्प रत्न के अद्भुत संयोजन से इसे नया रूप दिया गया है। केशव वाटिका को खोल दिया गया है।

अद्भुत शोभायात्रा
शनिवार को श्रीकृष्ण जन्मभूमि से दरेसी, होली गेट होते हुए नगर निगम कार्यालय तक शोभायात्रा निकाली गई। इसमें 300 कलाकारों ने भाग लिया। सभी कलाकारों ने बृज के जीवंत दर्शन कराए। देवी-देवता के रूप में सजे हुए थे। जगह-जगह स्थानीय लोगों ने इस शोभायात्रा का भव्य स्वागत किया। 25 अगस्त को श्रीकृष्ण जन्मभूमि से भूतेश्वर, स्टेट बैंक चौराहा, डैम्पियर नगर होते हुए संग्रहालय तक शोभायात्रा निकाली जाएगी।

शहर में 11 स्थानों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम
मथुरा जंक्शन रेलवे स्टेशन रोड पर श्रीराम मंदिर के सामने, बीएसए कॉलेज के सामने, भूतेश्वर तिराहा, गोवर्धन चौराहा (फ्लाई ओवर के नीचे), पोतरा कुंड के निकट, महाविद्या कॉलोनी, डैम्पियर नगर चौराहा, कृष्णा पुरी तिराहा, कलक्ट्रेट के सामने, टीएफसी वृंदावन के निकट, छटीकरा रोड पर छोटे मंच बनाए गए हैं। इन मंचों पर पूर्वाह्न 11 बजे से शाम तक सांस्कृतिक कार्यक्रम हो रहे हैं। ये कार्यक्रम 25 अगस्त तक चलेंगे।

Updated On:
25 Aug 2019, 12:10:00 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।