जैसे जैसे रक्षाबंधन का त्योहार नजदीक आ रहा है वैसे वैसे राखियों की दुकानें भी सज रही हैं और महिला ग्राहकों को लुभा रही हैं। हालांकि कोरोना के डर की वजह से दुकानों पर पहले जैसी रौनक नहीं है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।