5 सालों में पहली बार बाबा को लगा बड़ा झटका, पतंजलि की बिक्री में आई 10 फीसदी की गिरावट

By: Shivani Sharma

Updated On: Jun, 12 2019 06:57 PM IST

    • पतंजलि के फाउंडर बाबा रामदेव को बड़ा झटका लगा है
    • वित्त वर्ष 2019-20 में पतंजलि की बिक्री में 10 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है
    • पतंजलि की बिक्री बढ़ने की जगह घटकर 8100 करोड़ रुपए पर पहुंच गई है

नई दिल्ली। पतंजलि के फाउंडर बाबा रामदेव को बड़ा झटका लगा है। वित्त वर्ष 2019-20 में पतंजलि की बिक्री में 10 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है जबकि बाबा रामदेव ने साल 2017 में उम्मीद जताई थी कि मार्च 2018 तक कंपनी की बिक्री दोगुनी से भी ज्यादा होकर 20,000 करोड़ रुपए पहुंच जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। पतंजलि की बिक्री बढ़ने की जगह घटकर 8100 करोड़ रुपए पर पहुंच गई है।


पतंजलि को हुआ करोड़ों का घाटा

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से मिली जानकारी के मुताबिक पतंजलि ने सालाना वित्तीय रिपोर्ट में यह जानकारी दी है। वहीं, एक्सपर्ट्स का कहना है कि बीते वित्त वर्ष 2018-19 में भी पतंजलि की बिक्री में और भी ज्यादा कमी आई होगी। केयर रेटिंग्स ने इस साल अप्रैल में बताया था कि 31 दिसंबर 2018 तक की तीन तिमाही में पतंजलि ने सिर्फ 4,700 करोड़ रुपए के उत्पाद बेचे थे।


ये भी पढ़ें: 2019 में 95 फीसदी बढ़ी अजीम प्रेमजी की सैलरी, जुलाई से रीशद प्रेमजी संभालेंगे विप्रो की कमान


कंपनी की टर्नओवर में आई गिरावट

केयर रेटिंग्स की रिपोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार ऐसा माना जा रहा है कि पतंजलि के टर्नओवर में गिरावट का बड़ा कारण GST है। जानकारों का मानना है कि कंपनी जीएसटी के हिसाब से अपने आप को मैनेज नहीं कर पाई, जिसके कारण कंपनी को भारी घाटा हुआ है। वहीं, इसके अलावा कुछ लोगों का मानना है कि गलत फैसलों की वजह से कंपनी की महत्वाकांक्षाओं में रुकावट आई है।


प्रतिद्वंदी कंपनियां बना रहीं नए-नए प्लान

आपको बता दें कि बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद को प्रतिद्वंदी कंपनियों ने भी काफी नुकसान पहुंचाया है क्योंकि बाजार में अब पतंजलि का प्रभाव पहले की तुलना में कम हो रहा है। पतंजलि की कॉम्पटीशन वाली कंपनियां बाजार में अपनी बिक्री को बढ़ाने के लिए नए-नए तरीके अपना रही हैं। इसका असर भी पतंजलि की बिक्री पर पड़ा है।


ये भी पढ़ें: 8 महीनों के उच्चतम स्तर पर पहुंचे प्याज के दाम, मोदी सरकार ने बंद की निर्यात सब्सिडी


अन्य कंपनियां भी ला रहीं नैचुरल प्रोडक्टस

इसके अलावा अब हर्बल, आयुर्वेदिक और नैचुरल प्रोडक्टस के सेक्टर में कई मल्टीनेशनल कंपनियों ने भी अपने उत्पाद लॉन्च कर दिए हैं। हिन्दुस्तान यूनिलिवर ने अपने आयुर्वेदिक पर्सन केयर प्रोडक्ट्स वाले लीवर आयुष ब्रांड को रीलॉन्च किया है। इसके अलावा इंदुलेखा ने हेयरकेयर ब्रांड को खरीदा है और सिट्रा स्किनकेयर ब्रांड लॉन्च किया है।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार,फाइनेंस,इंडस्‍ट्री,अर्थव्‍यवस्‍था,कॉर्पोरेट,म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App

Published On:
Jun, 12 2019 04:28 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।