चहूं और गूंजे नंदलाल के जयकारें, हर और छाया कृष्ण भक्ति का दौर

By: Nilesh Trivedi

Updated On:
24 Aug 2019, 03:52:19 PM IST

  • चहूं और गूंजे नंदलाल के जयकारें, हर और छाया कृष्ण भक्ति का दौर

मंदसौर.
शहर में विश्व हिंदू परिषद के तत्वावधान में सुबह १० बजे बंैड-बाजों के साथ विहिप ने स्थापना दिवस पर भगवान श्रीकृष्ण की झांकी के साथ चल समारोह निकाला। केशव सत्संग भवन खानपुरा में शोभायात्रा का शुभांरभ अतिथियों ने भगवान श्रीकृष्ण की प्रतिमा की पूजा-अर्चना कर किया। शोभायात्रा में भगवान की झांकियों आकर्षण का केंद्र रही। इसमें अखाड़े भी शामिल हुए। मातृशक्ति एवं दुर्गावाहिनी की युवतियों नृत्य करते हुए चल रही थी।

चल समारोह का विभिन्न राजनीतिक संगठनों, धार्मिक संस्थाओं, सामाजिक संगठनों ने स्वागत किया। चल समारोह शहर के प्रमुख मार्गो से होता हुआ गांधी चौराहे पर सभा में बदल गया। यहां वक्ताओं ने विहिप की स्थापना के उद्देश्य व कार्यो के बारे में बताया। वक्ताओं ने कहा कि श्रीकृष्ण ने निरंतर कर्म करने का संदेश भगवान श्रीकृष्ण ने श्रीमद्भागवत गीता में दिया है। कृष्ण ने पूरे समाज के लिए मित्रता और प्रेम का जो अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया है, वह आज भी अनुकरणीय है।

ग्वाला समाज ने निकाली शोभायात्रा, लगे जयकारें
फोटो एमएन २४०४ चल समारोह में शामिल महिलाएं।
फोटो एमएन २४०५ कृष्ण-राधा के नृत्य रहा आकर्षण का केेंद्र।
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण ग्वाला गवली समाज एवं अभा ग्वाल महासभा द्वारा चल समारोह एवं कलश यात्रा निकाली गई। गाजे- बाजे और ढोल- ढमाकों के साथ गांंधी चौराहा स्थित हरदेवलाला मंदिर से प्रारंभ हुआ चल समारोह ६ घंटे तक शहर के विभिन्न मार्गो से होकर गुजरा।

शोभायात्रा में राधा-कृष्ण की रासलीला से लेकर अन्य चित्रों का वर्णन किया गया। जन्माष्टमी की संध्या में समाजजनों ने अपने घरों के आंगन में दीप जलाकर भगवान श्री कृष्ण के जन्म की खुशियां मनाई। समारोह में सबसे आग महिलाएं एक समान वेशभूषा में सिर पर कलश धारण किए चल रही थी। डीजे पर युवक- युवतियां, महिला- पुरूष बच्चे कृष्ण के भजनों पर नृत्य करते चल रहे थे। समाजजनों एवं विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा करीब ५० स्थानों पर चल समारोह का स्वागत कर शामिल समाजजनों को स्वल्पहार वितरित किया।

Updated On:
24 Aug 2019, 03:52:19 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।