मकानों के नीचे से खिसक रही मिट्टी से घाटी पर बसे 50 परिवारों पर खतरा

By: Nilesh Trivedi

Updated On:
24 Aug 2019, 03:25:35 PM IST


  • मकानों के नीचे से खिसक रही मिट्टी से घाटी पर बसे ५० परिवारों पर खतरा

मंदसौर.
शहर किला क्षेत्र में स्थित मकानों के नीचे की मिट्टी पिछले कई दिनों से खिसक रही है। अब आलम यह हो गया है कि पहाड़ी से मिट्टी सड़क तक आने लगी है। यह दौर पिछले ६ से ७ दिनों तक चल रहा है। इस भूस्खलन के चलते पहाड़ी पर स्थित ५० से अधिक परिवारों पर संकट के बादल मंडराने लगे है। जिस पहाड़ी की मिट्टी खिसक रही है। उसके ऊपर घनी आबादी वाला क्षेत्र है। पहाड़ी के ऊपर पक्के व बहुमंजिला मकान बने है। ऐसे में नीचे खिसकती मिट्टी से यहां रहने वाले लोगों की चिंता बढ़ गई है। लेकिन प्रशासनिक अमला इसे लेकर अब तक हरकत में नहीं आया है। शुक्रवार को मामले ने तूल पकड़ लिया। विधायक यशपालसिंह सिसौदिया ने इसे लेकर यहां के फोटो के साथ इस घटनाक्रम को ट्वीट किया। साथ ही मुख्यमंत्री व कलेक्टर को भी टेग करते हुए उन्हें जानकारी भी दी।


रिंग रोड पर हो रहा भूस्खलन
पिछले दिनों हुई भारी बारिश के दौर में रिंग रोड न्यायालय परिसर से पशुपतिनाथ मंदिर की और जाने वाले मार्ग के समीप पहाड़ी पर भूस्खलन हो रहा है। बड़ी संख्या में पहाड़ी से मिट्टी खिसक चुकी है। रिंग रोड तक पहाड़ी से मिट्टी खिसकर आ चुकी है। जिस पहाड़ी से भूस्खलन हो रहा है। उसके ऊपर अनेक परिवार निवास कर रहे है। बावजूद कई दिनों से चली आ रही इस स्थिति पर अब तक नगर पालिका और प्रशासनिक अमले ने संज्ञान नहीं लिया और इसकी सुध नहीं ली है।


यह लिखा ट्वीट पर
विधायक सिसौदिया ने शुक्रवार को किए ट्वीट में लिखा की शिवना नदी के किनारे भोईवाड़ा क्षेत्र की पहाड़ी पर लगातार वर्षा एवं तेज हवा के कारण भूस्खलन हो गया है। बड़ी संख्या में मकान यहां बने हुए है। ऐमें में यहां निवास करने वाले निवासियों की जान-माल का खतरा बना हुआ है। जिला प्रशासन एवं नगर पालिका को इस पर संज्ञान लेना चाहिए।
..........................

Updated On:
24 Aug 2019, 03:25:35 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।