ऑनलाइन टीचिंग का ट्रेंड, स्कूल-कॉलेजों में मिलेगी ये सुविधा

कोविड 19 के बढ़ते प्रकोप के बीच बेहतर ऑनलाइन टीचिंग को लेकर दुनिया भर के शिक्षण संस्थानों में हाइली इक्यूप्ड डिजिटल क्लासरूम बनाने की कवायद शुरू हो चुकी है। इसके तहत डिजिटल ब्लैक बोर्ड पर रियल टाइम क्लासेज के लिए ना सिर्फ बेहतर डिजिटल स्टूडियो तैयार किए जा रहे हैं बल्कि फैकल्टीज को भी इन डिजिटल रूम्स में टीचिंग के लिए ट्रेंड किया जा रहा है। इन डिजिटल क्लास रूम्स के माध्यम से स्टूडेंट्स लाइव क्लासेज के दौरान अपने प्रश्न भी पूछ सकेंगे एवं फैकल्टीज लेक्चर्स की रिकॉर्डिंग भी कर सकेंगी।

स्टूडियो का ऑडियो-विजुअल अंदाज
अधिकांश शैक्षणिक संस्थानों में ऐसे डिजिटल स्टूडियो तैयार किए जा रहे हैं। ये हाइटेक ऑडियो-विजुअल के साथ ही बेहतर इंटरनेट कनेक्टिविटी से लबरेज होंगे। इसके अतिरिक्त डिजिटल बोर्ड से लाइव क्लासेज के डेमो भी लिए जा रहे हैं।

इंटरेक्टिव डिजिटल डिस्प्ले
इन स्टूडियोज में इंटरेक्टिव डिस्प्ले का उपयोग किया जा रहा है। इसकी साइज 72 इंच या इससे अधिक भी हो सकती है। इसमें पीडीएफ फाइल्स तथा वीडियो को हाई रेजोल्यूशन कैमरों की मदद से ऑफलाइन क्लास की तर्ज पर दर्शाया जा सकता है।

लैब्स भी वर्चुअल बनाने की तैयारी
ऑनलाइन के दौर में लैब्स भी वर्चुअल तैयार की जा रही है। इसमें लैब को लेकर प्रोविजन किए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त लाइब्रेरी भी वर्चुअल उपलब्ध करवाई जाएंगी व वर्चुअल लाइब्रेरी के लिंक्स एवं पोर्टल ई-क्लासरूम से शेयर किए जाएंगे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।