व्यवसायी दंपत्ति की घर में निर्मम हत्या, बड़़े बेटे पर हत्या का आरोप

  • तार तार होते रिश्तों की बदरंग कहानी

सोशल मीडिया पर फादर्स डे के सेलिब्रेशन का खुमार उतरा भी नहीं था कि पूर्वांचल के महराजगंज की एक खबर ने सनसनी फैला दी। आरोप है कि बेटे ने साथ रह रहे माता-पिता की बेरहमी से फरसे से काटकर हत्या कर दी और फरार हो गया। सुबह जब पड़ोसी घर पहुंचे तो वारदात के बारे में लोगों को पता लगा। पुलिस ने आला कत्ल बरामद करने के साथ शवों का पोस्टमार्टम करा दिया है। आरोपी अभी पुलिसिया गिरफ्त से बाहर है।

यह भी पढ़ें- तीन साल से एक दूसरे को करते थे अटूट प्रेम, गांव के बाहर पेड़ से लटकती हुई दोनों लाश मिली

जिले के बड़े व्यवयायियों में शुमार थे विश्वनाथ वर्मा

महराजगंज सदर कोतवाली क्षेत्र के बरवा फहीम के रहने वाले विश्‍वनाथ वर्मा (60 वर्ष) जिले के बड़े व्यवसायियों में एक थे। करीब डेढ़ दशक पूर्व उन्होंने एक राइस मिल प्रारंभ की थी। करीब पांच साल पहले उन्होंने राइस मिल का व्यवसाय बंद कर डेयरी उद्योग लगाया और सोयाबीन की फैक्ट्री खोली।

यह भी पढ़ें- कमरे में बहु अपने प्रेमी के साथ इस हाल में थी, रात में अचानक पहुंच गए ससुर

चार संतानों में एक बेटी नौकरी करती, एक बेटी-बेटा पढ़ाई

विश्वनाथ वर्मा की चार संतानें हैं। बड़ा बेटा सतीश उनके साथ रहता था। जबकि आशीष लखनऊ में रहकर पढ़ता है। एक बेटी पूनम दिल्ली में नौकरी करती है जबकि दूसरी बेटी अंकिता बहन के साथ ही रहकर पढ़ाई कर रही है।

बड़ा बेटा सतीश रहता था साथ

आसपास के लोगों के अनुसार विश्वनाथ वर्मा के साथ रहने वाला उनका बेटा सतीश नशे का आदी था। वह खूब शराब पीता था। सतीश अपने माता-पिता के साथ ही रहता था।

यह भी पढ़ें- आॅटो चालक जबरिया किशोरी को उठा ले गया, बंधक बनाकर दो दिनों तक किया रेप, इस हालत में घर पहुंची

मुनीम जब घर पहुंचा तो खुला मामला

मंगलवार को विश्वनाथ वर्मा का मुनीम राममिलन जब उनके घर पहुंचा तो गेट पर ताला लगा हुआ था। आवाज लगाने पर भी कोई नहीं निकला। राममिलन को कुछ शक हुआ। वह विश्वनाथ वर्मा के बड़े भाई मुरारी वर्मा के घर गया और उनको लेकर आया। उन्होंने भी आवाज दी लेकिन कोई बाहर नहीं निकला। देखते ही देखते काफी संख्या में लोग एकत्र हो गए। मुरारी वर्मा ने पुलिस को फोन किया। पुलिस पहुंची और ताला तोड़कर वह अंदर दाखिल हुई। अंदर का दृश्य देखकर सब चैक गए। विश्‍वनाथ वर्मा और पत्‍नी लालती देवी (55) के खून से लथपथ शव कमरे में पड़े थे।

यह भी पढ़ें- सात साल की बच्ची का किया अपहरण, रेप के बाद कर दी हत्या

बड़ा बेटा सतीश लापता, बेटा सतीश पर ही हत्या का आरोप

सतीश का कहीं अता पता नहीं था। सतीश के लापता होने के बाद लोगों को शक हुआ कि सतीश हत्या कर फरार हो गया है। पुलिस ने तत्काल आला कत्ल को कब्जे में लेने के बाद शवों को पोस्टमार्टम को भेजवाया। उधर, विश्वनाथ वर्मा के बड़े भाई मुरारी वर्मा ने सतीश पर हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें- होटल के 29 कमरों में आपत्तिजनक हालत में मिले युवक-युवतियां, पुलिस पहुंची तो मच गया भगदड़

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।