यूपी की सड़कों पर घूम रही हैं लेडी मार्शल बाइक राइडर्स, जानिए क्या है कारण 

  • लखनऊ से निकलीं लेडी बाइकर्स चार दिनों तक यूपी के अलग-अलग हिस्सों में जाएँगी।
लखनऊ. यूपी की सड़कों पर लेडी बाइकर्स का एक 'गैंग' घूम रहा है। इन लेडी बाइकर्स को मार्शल बाइकर्स का भी नाम दिया गया है। लखनऊ से निकलीं ये लेडी बाइकर्स चार दिनों तक यूपी के अलग-अलग हिस्सों में जाएँगी। इन बाइकर्स को यूपी सरकार ने एक ख़ास मकसद से रवाना किया है। हिमालियन रेंज में 18 दिनों तक लगातार बाइक चलाने वाली पल्लवी फौजदार इस टीम का नेतृत्व कर रही हैं। 

बेटी बचाओ का देना है सन्देश 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और 181 महिला हेल्प लाइन के प्रचार- प्रसार के मकसद से यह अनोखा अभियान शुरू किया गया है। रविवार को लखनऊ में प्रदेश सरकार की मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने हरी झंडी दिखाकर टीम को रवाना किया। इस मौके पर यात्रा के संयोजकों ने बताया कि बाइक राइडर्स की टीम जगह-जगह पर कार्यक्रमों के  माध्यम से कन्या भ्रूण हत्या को लेकर जागरूकता कार्यक्रम करेगी। 

बाइकर्स टीम में शामिल हैं 13 लड़कियां 

टीम लीडर पल्लवी फौजदार के साथ प्राची जैन, कृतिका सिंह यादव, करुणा अग्रवाल, वसुधा अग्रवाल, गरिमा कपूर, देविका मैनी, नीतू यादव, अपूर्वा श्रीवास्तव, चारु गुप्ता, एशा अमीन, रीताम्भरा मिश्रा और फरियाल फैजल शामिल हैं। पल्लवी हिमालियन रेंज में 18 दिनों तक लगातार 3300 किमी की दूरी बाइक से तय कर चुकी हैं। साथ ही वे भारत-चाइना बार्डर तक पहुंचने वाली पहली बाइक राइडर हैं। यह जगह 17950 फ़ीट उचाई पर है। इस यात्रा के लिए उनका नाम लिम्बा बुक ऑफ रिकार्ड में भी शामिल है।   

लखनऊ से वाराणसी तक की यात्रा 

यह यात्रा लखनऊ से शुरू होकर रायबरेली, इलाहाबाद होते हुए वाराणसी तक पहुंचेगी। पल्लवी ने पत्रिका संवाददाता को बताया कि इस सफर के दौरान वे जगह-जगह लोगों से मिलकर बातचीत करेंगी । यह महिलाओं के हक़ की बात है जो लोगों तक पहुंचानी हैं। वाराणसी में यात्रा का आखिरी पड़ाव है और वहां से  टीम  वापस आ जाएगी। पल्लवी ने कहा कि इस अभियान को प्रदेश और देश में समर्थन मिल रहा है। बेटियों को लेकर संवेदनशील होने की जरूरत हैं।