कंगाली का आलम: इन करीबियों से उधार लेकर गुजारा कर रहा विजय माल्या, एक हफ्ते में उड़ाता है इतने रुपए

By: Ashutosh Kumar Verma

Published On:
Apr, 04 2019 08:58 PM IST

    • 13 बैंकों के कंसॉर्टियम ने विजय माल्या के लिए खड़ी की नई मुसबीत।
    • हर हफ्ते 26.57 लाख रुपए करता है खर्च।
    • बैंकों ने लंदन स्थित आईसीआईसीआई बैंक में विजय माल्या के खाते से 2.33 करोड़ रुपए जब्त किया।

नई दिल्ली। भारत में 'किंग ऑफ गुड टाइम्स' के नाम से मशहूर व भगौड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या अब कानूनी शिकंजे में लगातार फंसने के बाद अपनी कंगाली का राग अलाप रहा है। लगातार संपत्तियां जब्त होने के बाद विजय माल्या ( vijay mallya ) की हालत ऐसी हो गई है कि वह जीवनयापन के लिए अपनी पत्नी, पर्सनल असिस्टेंट, परिचित कारोबारियों व अपने बच्चों पर निर्भर रह रहा है।


बैंकों ने खड़ा किया विजय माल्या के लिए मुसीबत

13 बैंकों को करीब 11 हजार करोड़ रुपए की चपत लगाने वाले विजय माल्या के लिए एक और मुश्किल आन पड़ी है। भारतीय स्टेट बैंक ( SBI ) की अगुवाई वाली इन 13 बैंकों के कंसॉर्टियम ने बीते साल 11 सिंतबर को माल्या के खिलाफ दिवालिया याचिका दायर किया है, जिसपर दिसंबर माह में सुनवाई होनी है। कोर्ट में बैंकों के सवाल का जवाब देते हुए माल्या ने कहा कि उसकी कुल संपत्ति घटकर 2,596 करोड़ रुपए ही रह गई है, जिसका ब्यौरा उसने बैंकों से सेटलमेंट के लिए कर्नाटक हाई कोर्ट के सामने पेश कर दी है। इस जानकारी को बैंकों ने लंदन के वेस्टमिंस्टर कोर्ट से भी साझा किया है।


इन करीबियों के उधार पर कट रही जिंदगी

बैंकों के मुताबिक विजय माल्या की पत्नी पिंकी लालवानी ( Pinky Lalwani ) एक साल में करीब 1.35 करोड़ रुपए की कमाई करती हैं। इसके अतिरिक्त माल्या ने अपनी पर्सनल असिस्टेंट महल से 75.7 लाख रुपए और अपने एक कारोबारी दोस्त से 1.15 करोड़ रुपए उधार लिया है। इन 13 बैंकों का लंदन कोर्ट में प्रतिनिधित्व कर रहे निजेल तोजी ने कोर्ट को बताया कि माल्या ने यह पैसा अपने जीवनयापन के लिए लिया है। इस लिखित जानकारी से पता चलता है कि माल्या पर ब्रिटिश सरकार का करीब 2.40 करोड़ रुपए टैक्स और उसके वकील की फीस भी बकाया है। भारतीय बैंकों के 3.37 करोड़ रुपए के कानूनी खर्च में से 1.57 करोड़ रुपए भी नहीं चुकाया है।


हर हफ्ते 26.57 लाख रुपए करता है खर्च

वहीं, माल्या की तरफ से उसके वकील जॉन ब्रिसबी ने लंदन कोर्ट में बताया कि विजय माल्या एक हफ्ते में 26.57 लाख रुपए अपने जीवनयापन पर खर्च करता है। उसने कोर्ट को यह भी कहा है कि इस खर्च को घटाकर हर हफ्ते 16.21 लाख रुपए करने को तैयार है। इसके लिए उसने बताया कि उसे अब हायर पर्चेज अग्रीमेंट के तहत 14.40 लाख रुपए का भुगतान नहीं करना होगा। कोर्ट ने भी विजय माल्या की इस बात को मान लिया है। भारतीय बैंक ही नहीं बल्कि विजय माल्या पर एक दक्षिण अफ्रीकी बैंक का भी 30.6 करोड़ रुपए का कर्ज है। यह बैंक भी भारतीय बैंकों के साथ दिवालिया याचिका में शामिल हो चुका है।


बैंकों ने लंदन के आईसीआईसीआई बैंक के खाते को किया जब्त

इन बैंकों ने लंदन स्थित आईसीआईसीआई बैंक ( icici bank ) में विजय माल्या की करंट काउंट पर कब्जा करने की अपील की थी जिसपर बुधवार को सुनवाई हुई। 14 जनवरी को बैंकों को इंटरिम थर्ड पार्टी ऑर्डर मिला था। इसी आधार पर बैंकों ने माल्या के अकाउंट से 2.33 करोड़ रुपए जब्त कर लिया था। माल्या इसी आदेश को रद्द करने की मांग कर रहा है। इसके दलील में माल्या के वकील ने कहा था कि आईसीआईसीआई बैंक का यह खाता ही एकमात्र साधन है जिसके जरिए माल्या अपना जीवनयापन खर्च चला सकता है।


बैंकों ने कहा - माल्या के रहन-सहन पर नहीं आएगी कोई आफत

जवाब में बैंकों का प्रतिनिधित्व कर रहे तोजी ने कहा, "माल्या को किंगफिशर बीयर यूरोप से हर महीने 6.75 लाख रुपये मिलते हैं जो आईसीआईसीआई बैंक के खाते में जमा नहीं होता है। इससे माल्या के रहन-सहन पर कोई आफत नहीं आने वाली है।" उन्होंने ने आगे कहा माल्या पर अपनी पार्टनर या पत्नी और बच्चों की जिम्मेदारी है, लेकिन उसकी पार्टनर या पत्नी पिंकी ललवानी साल में करीब 1.35 करोड़ रुपये कमा रही है और बच्चे फैमिली ट्रस्ट के लाभार्थी हैं जिसमें मूल्यवान कलाकृतियां, कारें, दुनियाभर में मौजूद करोड़ों की संपत्तियां, भव्य नौकाएं और एक गेम रिजर्व शामिल हैं। हालांकि, बैंकरप्ट्सी प्रॉसिडिंग्स में माल्या दावा करते हैं कि वह पत्नी और बच्चों का खर्च उठा रहे हैं।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

Published On:
Apr, 04 2019 08:58 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।