जल्द रिटायर होगा ये सबसे अमीर चीनी शख्स, रिटायरमेंट के बाद करने जा रहा ये नायाब काम

By: Ashutosh Kumar Verma

Published On:
Sep, 09 2018 11:32 AM IST

  • बिल गेट्स के नक्शे कदम पर चलते हुए जैक मा ने भी अपने नाम से एक फाउंडेशन खोला है जो कि शिक्षा के क्षेत्र में जरूरतमंद लोगों की मदद करेगी।

नर्इ दिल्ली। चीन के सबसे अमीर शख्स आैर अलीबाबा के चेयरमैन जैक मा जल्द ही रिटायर होने वाले हैं। इसके साथ ही रिटायरमेंट के बाद अपने भविष्य को लेकर भी जैक मा ने एक साॅलिड प्लान बना लिया है। ब्लूमबर्ग टीवी को दिए अपने एक इंटरव्यू में जैक मा ने कहा है कि वो आजकल अपना अधिक से अधिक समय आैर संपत्ति जनकल्याण के लिए खर्च करने में लगे हुए हैं। बिल गेट्स के नक्शे कदम पर चलते हुए जैक मा ने भी अपने नाम से एक फाउंडेशन खोला है जो कि शिक्षा के क्षेत्र में जरूरतमंद लोगों की मदद करेगी। बीते सोमवार को 54 वर्ष की दहलीज पार करने वाले जैक मा के पास ब्लूमबर्ग बिलियनेयर इंडेक्स के मुताबिक कुल 40 अरब डाॅलर की संपत्ति है।


कहा-बिल गेट्स से बेहतर कर सकता हूं ये काम
जैक मा कहते हैं कि है करीब 20 साल पहले कंपनी की शुरुआत के बाद वो इत्तेफाक से एग्जीक्युटीव बन गए थे। आज वो चीन के ही नहीं बल्कि दुनियाभर के काॅर्पोरेट सेक्टर में जाना माना नाम हैं। साल 2013 में कंपनी के मुख्य कार्यकारी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद भी वो 400 अरब डाॅलर की इस कंपनी का प्रमुख चेहरा हैं। फिलहाल अलीबाबा र्इ-काॅमर्स सेक्टर के बाद अब हाॅलीवुड फिल्मों के प्रोडक्शन आैर क्लाउड कंप्युटिंग के क्षेत्र में भी कदम रखने की तैयारी में है। बिल गेट्स के बारे में बात करते हुए मा कहते हैं कि बहुत सी एेसी चीजें हैं जो मैं बिल गेट्स से सीख रहा हूं। मैं उनकी तरह अमीर तो नहीं बन सकता लेकिन एक चीज है जो मैं गेट्स से बेहतर कर सकता हूं आैर वो ये की मैं उनसे पहले रिटायर हो सकता हूं। मुझे लगता है कि बहुत जल्द ही मैं पहले की तरह ही एक शिक्षक की भूमिका में दिखूंगा। मुझे लगाता है कि इस भूमिका को किसी सीर्इआे के पद से भी बेहतर निभा सकता हूं। हालांकि उन्होंने ये नहीं बताया की आखिर कब तक वो रिटायर होंगे।


कुछ इस तरह की थी कंपनी की शुरुआत
जैक मा का जन्म सितंबर 1964 में हुआ था। साल 1999 में उन्होंने अपने एक साथी के साथ मिलकर अलीबबा की शुरुअात की थी। अपने बेहतर डील आैर इन्वेस्टमेंट कंपनी साॅफ्टबैंक की मदद के बाद अलीबाबा आज एक एेसी कंपनी के तौर पर उभर कर आर्इ है जो किसी भी ब्रैंड को बना या बिगाड़ सकती है। अलीबाबा के साथ ही मा एन्ट फाइनेंशियल, के लिए भी काम करते हैं जो कि चीन की सबसे बड़ी मोबाइल पेमेंट सर्विस उपलब्ध कराती है। इससे चीन के करीब 87 करोड़ लोग जुड़े हुए हैं। एक इंग्लीश टीचर के तौर पर करियार की शुरुआत करने वाले जैक मा हमेश से ही कहते हैं कि यदि वो बिजनेस मैन नहीं होते तो एक शिक्षक होेते।

Published On:
Sep, 09 2018 11:32 AM IST