पीएनबी घोटाले में नीरव मोदी की बहन के विरुद्ध रेड कार्नर नोटिस, बढ़ेगी मुश्किल

By: Manoj Kumar

Published On:
Sep, 10 2018 03:43 PM IST

  • भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की बहन पूर्वी दीपक मोदी बेल्जियम की नागरिक है।

नई दिल्ली। इंटरपोल ने 13,500 करोड़ रुपए के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाला मामले में भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की बहन पूर्वी दीपक मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अनुसार, इंटरपोल ने उनके आग्रह पर धनशोधन मामले में पूर्वी मोदी के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस जारी किया है।

मुंबई की अदालत जारी कर चुकी है पेशी के लिए समन

अगस्त में मुंबई की एक विशेष अदालत ने नीरव मोदी की बहन पूर्वी और भाई निशल को अदालत के समक्ष 25 सितंबर तक पेश होने के लिए समन जारी किया था। दोनों बेल्जियम के नागरिक हैं।अदालत ने यह भी कहा था कि अगर दोनों अदालत के समक्ष पेश होने में विफल रहते हैं तो नए भगोड़ा अपराधी अधिनियम के तहत उनकी संपत्ति जब्त की जा सकती है।

पूर्वी से घोटाले की जानकारी लेना चाहती है ईडी

इंटरपोल ने बीते सप्ताह नीरव मोदी के करीबी सहयोगी मिहिर भंसाली के विरुद्ध इसी मामले में रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था। नीरव मोदी की फायरस्टार इंटरनेशनल कंपनी का कार्यकारी भंसाली पीएनबी घोटाले की जांच शुरू होने के बाद से फरार है। ईडी नीरव मोदी और उसके मामा व गीतांजलि समूह के मेहुल चोकसी की ओर से घोटाले की अन्य जानकारियों का पता लगाने के लिए भंसाली व पूर्वी से पूछताछ करना चाहती है।

ये है मामला

दरअसल हीरा कारोबारी नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चौकसी ने मिलकर फर्जी बॉन्ड के जरिए करीब 13500 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की थी। यह सभी लेनदेन पीएनबी की मुंबई स्थित शाखा के जरिए किए गए थे। इस मामले का खुलासा होने के बाद नीरव मोदी और मेहुल चौकसी देश छोड़कर फरार हो गए थे। तभी से इस मामले में ईडी और सीबीआई नीरव मोदी और मेहुल चौकसी को पकड़ने की कोशिश में जुटे हैं। नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के खिलाफ पहले से ही रेड कॉर्नर नोटिस जारी है। नीरव इस समय एंटीगुआ में रह रहा है और उसके प्रत्यर्पण को लेकर एंटीगुआ की सरकार से बातचीत चल रही है।

Published On:
Sep, 10 2018 03:43 PM IST