केरल के मछुआरे के कायल हुए आनंद महिंद्रा, इस एक बात पर कर दिया मालामाल

By: Manoj Kumar

Updated On: Sep, 11 2018 02:25 PM IST

  • केरल बाढ़ के दौरान इस मछुआरे ने समाज के सामने एक नया उदाहरण पेश किया था।

नई दिल्ली। महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा अपनी दरियादिली के लिए जाने जाते हैं। वह मुश्किल घड़ी में कुछ अलग काम करने वालों की हौसलाअफजाई करने से कभी पीछे नहीं हटते हैं। अब एक बार फिर आनंद महिंद्रा ने एेसा ही उदाहरण पेश किया है। हाल ही में केरल में आई बाढ़ में अपनी पीठ का सहारा देकर महिलाओं को नाव में बिठाने वाले मछुआरे को आनंद महिंद्रा ने एक बेहद ही खास तोहफा दिया है। आनंद महिंद्रा ने जिस मछुआरे को यह बेहद खास तोहफा दिया है उसका नाम जैसल के पी और उसे कंपनी की नई एमपीवी महिंद्रा मराजो कार तोहफे में दी है। केरल के श्रम मंत्री टी पी रामाकृष्णन ने खुद मराजो कार की चाबी जैसल को सौंपी है। जैसल ने ट्वीट के जरिए महिंद्रा की ओर से मराजो कार दिए जाने की सूचना दी है। इस ट्वीट में केरल के श्रम मंत्री जैसल को मराजो कार की चाभी सौंपते हुए दिखाई दे रहे हैं।

 

जैसल के पी ने एेसे की थी महिलाओं की मदद

हाल ही में केरल में भयंकर बाढ़ आई थी। इस बाढ़ में केरल को हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हुआ था। बाढ़ में फंसे लोगों की मदद के लिए बड़े पैमाने पर स्वयंसेवक पहुंचे थे। इसी बाढ़ के दौरान जैसल ने लोगों को सुरक्षित नाव पर पहुंचाने के लिए अपनी पीठ का सहारा दिया था। उनके इस साहसिक कार्य की तस्वीरें सोशल मीडिया में काफी वायरल हुई थीं। जैसल के इसी साहसिक कार्य को देखकर आनंद महिंद्रा प्रभावित हो गए और उन्हें महिंद्रा की नई एमपीवी महिंद्रा मराजो कर उपहार में दे दी।

जूतों का अस्पताल बनवा चुके हैं आनंद महिंद्रा

आनंद महिंद्रा इससे पहले कई बार लोगों की मदद कर चुके हैं। कुछ महीने पहले आनंद महिंद्रा को एक मोची का प्रचार का तरीके बेहद पसंद आया था। आनंद महिंद्रा ने इसकी एक तस्वीर ट्वीटर पर भी पोस्ट की थी। बाद में आनंद महिंद्रा ने उस मोची के लिए एक स्थायी ठिकाना दिया था। आनंद महिंद्रा ने उस ठिकाने पर भी जूतों का अस्पताल लिखवाया था।

 

Published On:
Sep, 11 2018 02:16 PM IST