डीएम मानवेंद्र सिंह का कड़ा रुख, 11 आशा कार्यकर्ताओं की सेवा समाप्ति के दिए निर्देश

By: Karishma Lalwani

Updated On: Jan, 02 2019 05:46 PM IST

  • कई निर्देशों के बाद भी कुछ आशा कार्यकर्ताओं द्वारा शासकीय कार्यों एवं योजनाओं में रुचि नहीं ली जा रही थी

ललितपुर. स्वास्थ्य सेवाओं के संचालन में लापरवाही बरतने और शासकीय कार्यों में रुचि न लेने वाली 11 आशा कार्यकर्ताओं के खिलाफ डीएम मानवेंद्र सिंह ने सख्त एक्शन लिया है। उन्होंने सेवा समाप्ति के निर्देश दिए हैं। ग्रामीण छेत्र में आशा कार्यकर्ताओं की भूमिका अहम होती है। लेकिन कई निर्देशों के बाद भी कुछ आशा कार्यकर्ताओं द्वारा शासकीय कार्यों एवं योजनाओं में रुचि नहीं ली जा रही थी। जिससे क्षुब्द होकर जिलाधिकारी ने उन आशाओं की सेवा समाप्ति के निर्देश जारी किये हैं।

पहले भी रोकी गई थी सेवाएं

इससे पहले 16 सितंबर, 2017 को जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में सघन मिशन इन्द्रधनुष एवं पल्स पोलियो कार्यक्रम में लापरवाही एवं कार्यों में शिथिलता के कारण 2 संविदा एएनएम की सेवाएं समाप्त कर दी गई थीं। साथ ही 1 नियमित एएनएम को निलंबित कर दिया गया था।

इनकी रोकी गई सेवाएं

11 आशा कार्यकर्ताओं की सेवाएं रोकी गई हैं। इनमें रामसखी, उमा गौड़, विमला, अयोध्यारानी, वंदना, सावित्री, साधना यादव, रामसखी, पार्वती, मंजूलता और चम्पा देवी की सेवा समाप्त की गई है।

Published On:
Jan, 02 2019 05:45 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।