मोहर्रम: ए-आसमां देख ले जलवा हुसैन का.., या अली या हुसैन की गूंज से बुलंद हुआ आसमां, शहादत को सलाम करने उमड़ा कोटा

By: Zuber Khan

Updated On: 10 Sep 2019, 05:51:32 PM IST

 
  • muharram festival 2019: हजरत इमाम हुसैन की याद में मंगलवार को जिलेभर में ताजिए निकाले गए।

कोटा. हजरत इमाम हुसैन की याद में मंगलवार को जिलेभर में ताजिए निकाले गए। शहर के किशोरपुरा, मकबरा, लाडपुरा, विज्ञान नगर, छावनी, कोटडी, सब्जीमंडी, श्रीपुरा समेत अन्य इलाकों में ताजियों का जुलूस निकाला गया। जुलूस में अकीदतमंदों का सैलाब उमड़ा। गलियां, सड़कें, छतों व सड़क किनारे लोगों से अटे हुए थे। दोपहर को जौहर की नमाज के बाद से ही ताजियों का जुलूस निकलना शुरू हो गए थे। जैसे जैसे शाम ढलने लगी वैसे-वैसे लोगों का हुजूम उमडऩे लगा।

Read More: बड़ी खबर: कोटा में 4 दिन खत्म होने से पहले ही खत्म हो जाती है एक जिंदगी...कैसे पढि़ए खबर

किशोरपुरा क्षेत्र में मन्नती ताजिए निकाले। लोगों ने सेहरा व मन्नती धागा बांध अमन चैन की दुआएं मांगी। इस दौरान हर तरफ या अली या हुसैन की सदाएं बुलंद रही। जुलूस के दौरान अखाड़ेबाजों ने हैरतअंगेज करतब दिखाए। मार्ग में जगह-जगह छबीले लगाई। युवक या अली या हुसैन के नारे लगाते चल रहे थे। जुलूस मुख्य मार्गों से होता हुआ किशोर सागर तालाब पहुंचेगा। जहां देर रात ताजियों को ठण्डा किया। इस दौरान जगह-जगह पुलिस बल तैनात रहा।

Read More: बड़ी खबर: कोटा दशहरा मेले में करोड़ों कमाने के लिए इवेंट कंपनियों ने किया खेल, जांच में खुली पोल, टेंडर निरस्त

इससे पहले सोमवार को शहादत की रात मनाई। देर रात तक विभिन्न क्षेत्रों में ताजियों को घुमाया व वापस मुकाम पर रखा। इस मौके पर लोगों ने ताजियों पर सेहरे चढ़ाए व अमन चैन की दुआएं की। इस दौरान ढोल ताशों की आवाज गूंजायमान होती रही। सामाजिक कार्यकर्ता उमर सीआईडी के अनुसार चन्दघटा में शहादत नामा पढ़ा गया।

Updated On:
10 Sep 2019, 05:51:31 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।