कोटा हॉस्टल अग्निकांड के बाद हरकत में आया प्रशासन, कांग्रेस नेता का हॉस्टल सीज, धरने पर बैठा संचालक

By: Zuber Khan

Updated On:
12 Jun 2019, 01:50:28 PM IST

 
  • कोटा के तलवंडी इलाके में दो दिन पहले हॉस्टल में भीषण आग की घटना के बाद प्रशासन हरकत में आया और बुधवार को हॉस्टल सीज कर दि‍या। संचालक कार्रवाई के वि‍राेध में धरने पर बैठ गया।

कोटा. शहर के तलवंडी इलाके में दो दिन पहले सोमवार रात को हॉस्टल में भीषण आग के बाद प्रशासन हरकत में आ गया। आग के कारणों की जांच के लिए जिला कलक्टर मुक्तानन्द अग्रवाल ने छह सदस्यीय समिति का गठन किया। कमेटी ने मौके पर जाकर हॉस्टल की जांच की। इस दौरान कई खामियां मिलने पर बुधवार को हॉस्टल सीज कर दिया। इसके विरोध में होस्टल संचालक हिम्मत सिंह हाड़ा कार्रवाई के विरोध में घर के बाहर ही धरने पर बैठ गए हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि वे केईडीएल का लंबे समय से विरोध कर रहे हैं। इसलिए उन्हें फंसाया गया है।

Read More: कोटा के जेकेलोन अस्पताल में फिर आत्मा लेने पहुंचे परिजन, तांत्रिकों ने किया अनुष्ठान, तंत्र-मंत्र और टोने-टोटके से मचा हड़कम्प

समिति ने तलवंडी स्थित हॉस्टल का मौका मुआयना कर आग के कारणों एवं उससे प्रभावित क्षेत्र का निरीक्षण किया। समिति स्थानीय नागरिकों से भी मिली तथा उनके विचार भी जाने।
गौरतलब है कि तलवंडी में सोमवार रात एक तीन मंजिला हॉस्टल में आग लग गई थी। इस दौरान करीब 28 बच्चे रह रहे थे। हॉस्टल के एक ही कमरे में पांच विद्यार्थी फंसे हुए थे। रात करीब 10.5 बजे भूतल पर आग लगी। आग लगते ही पूरे हॉस्टल में धुआं ही धुंआ हो गया। अचानक हुए हादसे से बच्चे घबरा गए। आग लगने के बाद आसपास के लोग एकत्र हो गए। पुलिस और दमकल को इसकी सूचना दी। मौहल्ले के लोगों ने बच्चों को सुरक्षित निकालने के लिए रेस्क्यू करना शुरू कर दिया। सीढ़ी और साड़ी के सहारे बच्चों को बगल के मकान की छत पर उतारा। इसी बीच पुलिस पहुंच गई और करीब आधा घंटे में दमकल पहुंची। जब तक भूतल वाले पूरे भाग में आग फैल चुकी थी। देर रात को रेस्क्यू कर बच्चों को सुरक्षित निकाल लिया गया था।

Read More: बैंगलूरु से कोटा आया ट्रक में लगी भीषण आग, 12 टन नारियल खाक, तेज धमाकों से फटे टायर, राहगीरों में अफरा-तफरी

यह हैं जांच समिति में शामिल
जिला कलक्टर की ओर से जारी आदेश के अनुसार जांच समिति में अतिरिक्त शहर जिला कलक्टर आरडी मीणा, निगम आयुक्त नरेन्द्र कुमार गुप्ता, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश मील, जयपुर विद्युत वितरण निगम के अधीक्षण अभियंता एससी जांगीड, निगम के मुख्य अग्निशमन अधिकारी गौतमलाल व सहायक अग्निशमन अधिकारी देवेन्द्र गौतम व राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय के प्रो. प्रवीण कुमार को शामिल किया गया है।

Updated On:
12 Jun 2019, 01:50:28 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।